1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

कॉमनवेल्थ घोटाले में बीना नानू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

दिल्ली कॉमनवेल्थ खेलो के आयोजन में हुई फिजूलखर्ची की जांच के दौरान एक निजी कंपनी के निदेशक बीना नानू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज गया है. बीना नानू को 18 जनवरी को गिरफ्तार किया गया.

default

बीना नानू इवेंट मैनेजमेंट कंपनी जीएल इवेंट्स मेरोफॉर्म की निदेशक हैं और पिछले चार दिनों से सीबीआई उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. शनिवार को दिल्ली की विशेष अदालत के जज ओ पी सैनी ने नानू की गिरफ्तारी फर फैसला सुनाते हुए कहा,"आरोपी को 4 फरवरी तक के लिए रिमांड पर जेल में डाल दिया जाए. " सीबीआई ने 12 जनवरी को नानू और उससे जुड़े कई लोगों के घर और दफ्तर की तलाशी ली. सीबीआई ने बताया कि नानू की पत्नी रूपना भी कारोबार में उनकी सहयोगी हैं.

Indien Commonwealth Games Delhi 2010

इस बीच कॉमनवेल्थ गेम्स की आयोजन समिति के महानिदेशक वी के वर्मा के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करा दी गई है. अब तक कॉमनवेल्थ गेम्स के आयोजन के सिलसिले में दर्ज हुई ये चौथी एफआईआर है. सीबीआई ने आरोप लगाया है कि महानिदेशक वीके वर्मा ने दूसरे निदेशकों और निजी कंपनियों के निदेशकों के साथ मिल कर 'आपराधिक साजिश' रची. इसमें कंपनियों को वास्तविक कीमत से काफी ऊंची कीमत खेलों के आयोजन से जुड़े कामों के ठेके दिए गए.

ऊंची कीमतों पर दिए गए ठेकों की जांच आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय भी कर रहे हैं. जिन कामों के लिए कीमत बढ़ा कर ठेके दिए गए उनमें टेंट की सप्लाई, शामियाना, छोटे टॉयलेट, डब्बे, सुरक्षा बाड़, फर्नीचर, एलईडी बोर्ड, फर्श बनाने में काम आने वाला सामान, उपकरण, जेनरेटर, तार, यूपीएस, बिजली के उपकरण और एयरकंडीशनर, इसके अलावा निर्माण काम और एथलीटों के लिए कसरत करने के सामान शामिल हैं.

सीबीआई कॉमनवेल्थ खेलों के आयोजन में फिजूलखर्ची के जरिए हुए घोटाले के सिलसिले में इससे पहले तीन और एफआईआर दर्ज करा चुकी है. इनमें से दो मामले तो लंदन में हुई क्वीन्स बेटन रैली से जुड़े हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः एमजी

DW.COM

WWW-Links