कॉमनवेल्थ गेम्स से जुड़े काम में अनियमितताएं | दुनिया | DW | 29.07.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कॉमनवेल्थ गेम्स से जुड़े काम में अनियमितताएं

कभी स्टार खिलाड़ियों का भारत आने से इनकार तो कभी स्टेडियम में निर्माण कार्य समय से पूरा न हो पाने की चिंता. कॉमनवेल्थ गेम्स लगातार चर्चा में बने हैं. अब सतर्कता आयोग ने निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार के आरोप सही बताए.

default

देश के सम्मान से जुड़े हैं गेम्स

केंद्रीय सतर्कता आयोग ने कहा है कि दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेम्स के आयोजन से जुड़े जो काम किए जा रहे हैं उनमें अनियमितताएं बरती गई हैं. सतर्कता आयोग ने अपनी जांच में पाया है कि काफी गड़बड़ियां हुई हैं

कम से कम 14 परियोजनाओं में सतर्कता आयोग को अनियमितताएं देखने को मिली हैं.

केंद्रीय सतर्कता आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "कॉमनवेल्थ गेम्स से जुड़े कई कार्यों में हमें भ्रष्टाचार का पता चला है. हम इन मामलों की जांच करेंगे और पूरी जांच करने के बाद संबंधित एजेंसी को कार्रवाई के लिए कहेंगे." सतर्कता आयोग के मुताबिक खेल की तैयारियों से जुड़ी निविदाओं और अन्य प्रक्रियाओं की फिर से जांच की जा सकती है.

Baustelle in Indien

कब पूरा होगा काम?

इससे पहले मुख्य सतर्कता आयुक्त प्रत्युष सिन्हा ने कहा कि जब से कॉमनवेल्थ की तैयारियों में भ्रष्टाचार के आरोप लगने शुरू हुए हैं तभी से सतर्कता आयोग ने सतर्कता बरतते हुए करीब करीब सभी परियोजनाओं को जांच के दायरे में ले लिया था. उन्होंने कहा, "निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार के आरोप लगने के मामलों में हमने जल्द कार्रवाई की और हर कॉन्ट्रैक्ट पर कड़ी नजर रखी."

दिल्ली में 3 से 14 अक्तूबर तक कॉमनवेल्थ गेम्स होने हैं और उस सिलसिले में बड़े पैमाने पर निर्माण कार्य चल रहा है. स्टेडियम, खेल गांव सहित कई अन्य बड़ी परियोजनाओं को अंतिम रूप दिए जाने की तैयारी हो रही है लेकिन अब उनमें भ्रष्टाचार के आरोप लगने भी शुरू हो गए हैं. दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन, नई दिल्ली म्युनिसिपल काउंसिल, दिल्ली डेवलेपमेंट ऑथॉरिटी और सेंट्रल पब्लिक वर्क्स डिपार्टमेंट सहित कई अन्य विभागों में भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं और ऐसे में सतर्कता आयोग ने उन आरोपों पर जांच आगे बढ़ाई है.

दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले निर्माण कार्यों के समय से पूरा न होने की आशंका जताई जा रही थी. केंद्र सरकार के दखल के बाद काम की रफ्तार बढ़ी, कई स्टेडियमों में काम पूरा भी हुआ है लेकिन उनकी गुणवत्ता पर सवाल बना हुआ है.

कांग्रेस के नेता भी अपने बयानों को लेकर चर्चा में बने हैं. मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि अगर गेम्स सफल हुए तो उन्हें दुख होगा. बयान से तिलमिलाए आयोजन समिति के प्रमुख सुरेश कलमाड़ी ने अय्यर के बयान को राष्ट्र विरोधी करार दिया.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links