1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

कॉमनवेल्थ के बंदरों को भगाने के लिए आए लंगूर

कॉमनवेल्थ गेम्स के खेलगांव में सिर्फ कुत्ते, या कहीं एक सांप ही नहीं दिखे हैं, अब सुरक्षा गार्ड के रूप में लंगूरों को भी तैनात किया जा रहा है. इन लंगूरों को देसी बंदरों को भगाने के लिए लाया जा रहा है.

default

भागो, लंगूर आ गए.

दिल्ली के अधिकारियों ने सूचित किया है कि बुधवार से विभिन्न स्टेडियमों के पास लंगूरों को तैनात किया जाएगा. खास ध्यान स्वीमिंग कॉम्प्लेक्स पर दिया जा रहा है, जहां बंदरों का उत्पात कुछ अधिक ही बताया जाता है.

बंदरों से निपटने के मामले में इन लंगूरों को एक्सपर्ट समझा जाता है. एनडीएमसी के पास 28 लंगूरों का एक दस्ता है. शहर के वीआईपी इलाकों में बंदरों को दूर रखने के लिए इनका नियमित रूप से इस्तेमाल किया जाता है.

प्रेस के साथ एक बातचीत में एनडीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार से इनकी संख्या बढ़ाकर 38 कर दी जाएगी. ये अतिरिक्त लंगूर खेलगांव व अन्य महत्वपूर्ण इलाकों में तैनात किए जाएंगे, ताकि खेलों के दौरान बंदर परेशान न कर सकें.

कॉमनवेल्थ गेम्स के आयोजक वैसे भी जानवरों से परेशान हैं. यहां वहां आवारा कुत्ते भटक रहे हैं. इसके अलावा टेनिस कॉम्प्लेक्स में एक सांप भी मिला है. कई दूसरे शहरों की तरह दिल्ली में बंदरों की समस्या है. खासकर संसद भवन के इर्दगिर्द हर वक्त उनके झुंड देखे जा सकते हैं. यहां तक कि सन 2007 में बंदरों के एक झुंड के हमले से भागते वक्त बरामदे से गिरकर दिल्ली के उप महापौर की मौत गई थी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links