1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कॉमनवेल्थ की रिपोर्ट में तीन महीने में

कॉमनवेल्थ खेलों में हुए भ्रष्टाचार की रिपोर्ट तीन महीने के भीतर आएगी. भारत के महालेखा परीक्षक ने कहा है कि 90 दिन के भीतर जांच रिपोर्ट दे दी जाएगी. जांच में 20 से ज्यादा विभाग होंगे. आयोजन समिति का कार्यकाल भी बढ़ा.

default

एक तरफ भ्रष्टाचार को लेकर मंत्री समूह, जीओएम की दिल्ली में बैठक हुई. उसमें दिल्ली कॉमनवेल्थ खेल आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी भी मौजूद रहे. दूसरी ओर केंद्रीय महालेखा परीक्षक विनोद राय ने तीन महीने में जांच रिपोर्ट देने का एलान कर दिया. गौरतलब है कि जीओएम ने पूर्व सीएजी वीके शुंगलू से जांच कराने का पहले ही एलान कर दिया था लेकिन सीएजी भी अब खेलों में खर्च हुए पैसे का अलग से अपने स्तर पर ऑडिट करेगा.

राय ने कहा, ''हम सीडब्ल्यूजी की ऑडिट प्रक्रिया तीन महीने में पूरी कर लेंगे. यह एक बड़ा अभियान होगा. कम 20 अलग अलग संस्थान इससे जुड़े हैं.'' उन्होंने कहा कि रिपोर्ट पूरी तरह गोपनीय रहेगी. इसे सिर्फ संसद के सामने रखा जाएगा. उन्होंने इशारों में बता दिया कि दोषियों को बचने के लिए ज्यादा वक्त नहीं दिया जाएगा. जांच प्रक्रिया को लेकर विनोद राय ने कहा, ''अगर हम छह महीने लगाएंगे और रिपोर्ट 2012 में पेश करेंगे तो जांच का मकसद ही बेकार हो जाएगा. हमारी कोशिश रहेगी की ऑडिट के नतीजों के जल्द पेश किया जाए.''

Die Ministerpräsidentin von Delhi Sheila Dikshit

उधर भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच और बढ़ते दबाव के बीच आज दिल्ली सरकार ने भी एक एलान कर डाला. भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरी दिल्ली सरकार ने पदक विजेता खिलाड़ियों को इनाम देने की घोषणा की. स्वर्ण पदक जीतने वालों को 15, रजत पदक जीतने वालों को 10 और कांस्य पदक जीतने वालों को 5 लाख रुपये पुरस्कार के तौर पर दिए जाएंगे. यह एलान बहुत नाजुक वक्त में किया गया है.

कलमाड़ी ने दिल्ली सरकार पर आरोप लगाया है कि वह 16,000 करोड़ रुपये कहां खर्च किए, इसका हिसाब दे. अब गोल्ड मेडल जीतने वाले 38 खिलाड़ियों की दिल्ली सरकार इनाम के तौर पर कुल पांच करोड़ 70 लाख रुपये देगी. सिल्वर मेडल वालों के लिए दो करोड़ 70 लाख और कांस्य पदक विजेताओं के लिए एक करोड़ 80 लाख रुपये बतौर पुरस्कार देगी. यानी कुल 10 करोड़ 20 लाख रुपये का हिसाब बैठ जाएगा.

कलमाड़ी और शीला दीक्षित के खुले झगड़े से कांग्रेस भी खिसिया गई है. पार्टी ने कलमाड़ी और शीला के वाकयुद्घ को पार्टी से बाहर की बात कहा है.

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: उभ

DW.COM

WWW-Links