1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कैसे पहुंचा तालिबान के हाथों में कुंदुज

अफगान सेना कुंदुज को तालिबान से छुड़ाने में लगी है. लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर शहर तालिबान के हाथों में पहुंचा ही कैसे.

वीडियो देखें 01:28

कैसे पहुंचा तालिबान के हाथों में कुंदुज

तालिबान की कुंदुज में अपना झंडा फहराने की तस्वीरों ने पूरी दुनिया को सकते में डाल दिया. तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने बयान दिया है कि तालिबान ने अचानक ही हमला किया और शाम तक शहर उसके कब्जे में था. यह भी कहा गया है कि हमले में कुंदुज जेल से 600 कैदियों को बाहर निकाल लिया गया है. इसमें कई तालिबानी भी शामिल हैं.

हालांकि जानकारों का मानना है कि यह बहुत लंबी और सोची समझी कार्यवाही थी. अफगानिस्तान मामलों के जानकार जेसन कैंपबेल ने डॉयचे वेले को बताया कि पिछले एक साल से लड़ाके कुंदुज में सरकार को उखाड़ने की कोशिश में लगे थे. उन्होंने बताया कि तालिबान लड़ाकों में इस बीच केवल अफगान ही नहीं, बल्कि पाकिस्तानी और अन्य मध्य एशियाई देशों के लड़ाके भी शामिल हैं.

दूसरी ओर कई जानकार यह भी मानते हैं कि जिस तरह से तालिबान कुंदुज में लूटपाट कर रहा है, कैदियों को छुड़ा रहा है और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहा है, उसे देख कर ऐसा नहीं लगता कि वह शहर में लंबे समय तक कब्जा बनाए रखना चाहता है, बल्कि ये कम से कम वक्त में ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचा कर वहां से निकलने की योजना के संकेत लगते हैं.

इस बीच अफगान सरकार ने दावा किया है कि जल्द ही वह तालिबान को शहर से निकाल बाहर करेगी. लेकिन यह अफगान सेना के लिए भी टेढ़ी खीर साबित हो सकता है. सेना अब तक कोई ठोस रणनीति के बारे में नहीं बता पाई है.

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री