1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

केन्या में खतना से भागते लोग

केन्या के बुकुसू समुदाय में खतने का सीजन उत्सव की तरह मनाया जाता है. अच्छा खान पान, संगीत और मुफ्त बीयर. लेकिन जिनका खतना नहीं हुआ है, यह समय उनके लिए जश्न का नहीं बल्कि भाग खड़े होने का होता है.

अगस्त में खतने का सीजन शुरू होने के बाद से दूसरे कबीलों के 12 लोगों का जबरन खतना किया जा चुका है. पुलिस का कहना है कि जबरी खतने से बचने के लिए बहुत से लोगों ने पुलिस चौकियों में शरण ली है. बुसुकू कबीले के लोग सामान्य उपकरणों का इस्तेमाल कर बिना बेहोश किए खतना करने की परंपरागत रीति अपनाते हैं. लेकिन परंपराएं घातक हो सकती हैं. प्रेस रिपोर्टों के अनुसार इस महीने 13 साल के एक लड़के को अपना जननांग गंवाना पड़ा जब खतना करने वाले ने उसे काट दिया.

Symbolbild weibliche Genitalverstümmelung Beschneidung

खतना के उपकरण

बुसुकू बहुमत वाले शहर मोई ब्रिज में रहने वाले तुरकाना समुदाय के लोग मुख्य रूप से जबरन खतने का शिकार हुए हैं. पिछले हफ्ते जबरदस्ती के खिलाफ तुरकाना कबीले के लोगों ने तलवार और तीर कमान लेकर प्रदर्शन किया. स्थानीय निवासी माइकल एनजिलिमो के अनुसार बिना खतने वाले मर्दों की घर घर में खोज कर रहे गिरोह ने उनके परिवार के सदस्य का खतना कर दिया. "वे मेरे चाचा के ऊपर कूद पड़े और दबोच कर खतना कर दिया और खून बहता छोड़ कर चले गए." एनजिलिमो रात भर सो नहीं पाए और सुबह उठ कर चाचा के लिए दवा लाने गए.

हमले से बचने के लिए तुरकाना कबीले के लोग घरों में नहीं, बल्कि खेतों में सोते हैं या थानों में पनाह लेते हैं. परंपरागत रूप से तुरकाना निलोटिक कबीला है जिसके रीति रिवाजों पर आधुनिकता का कोई असर नहीं हुआ है. इस समुदाय में खतने की प्रथा नहीं है. लेकिन बुकुसू कबीले के कट्टरपंथियों का कहना है कि चूंकि वे उनके साथ रहते हैं और उनकी बेटियों के साथ शादी करते हैं, उन्हें यह प्रथा अपना लेनी चाहिए. एक स्थानीय अधिकारी मोसेस ओकुमू का कहना है कि तनाव बढ़ रहा है लेकिन अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

केन्या के दूसरे सबसे बड़े कबीले लुहया समुदाय में खतना बहुत अहम है. बुकुसू लुहया के 16 उप कबीलों में एक है. स्थानीय कारोबारी मार्टिन वलियाउलू का कहना है कि इलाके में दो साल पर 10 से 14 साल के बच्चों के लिए खतना समारोह होता है. इसका जश्न मनाने के लिए सारे रिश्तेदारों को बुलाया जाता है. "जानवरों की बलि दी जाती है और नाच गाने के साथ जश्न होता है." वलियाउलू के अनुसार जब कोई अस्पताल जाने के बदले परंपरागत तरीके से खतना करवाता है तो उसे हीरो समझा जाता है.

वहां रहने वाले लुओ, टेसो और तुरकाना कबीलों में खतने का रिवाज नहीं है, लेकिन जब इन कबीलों का कोई मर्द बुकुसू महिला से शादी करता है तो बीवी या रिश्तेदारों के दबाव पर उनका खतना कराया जा सकता है. वलियाउलू का कहना है, "दिल चाहता है लेकिन शरीर डरता है. ऐसी स्थिति में समुदाय डर पर काबू पाने में मदद करता है." उनका कहना है कि एचआईवी संक्रमण रोकने सहित खतने के स्वास्थ्य के लिए वैज्ञानिक तरीके से सिद्ध फायदे हैं. लेकिन वे मानते हैं कि दूसरे कबीले के लोगों को इस पर भरोसा नहीं है.

एमजे/एजेए (एपी)

DW.COM