1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कुर्द लड़ाकों की मदद करेगा तुर्की

कुर्दों को अमेरिका से हथियार मिलने के बाद इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों की मदद के लिए दूसरे इलाकों से लड़ाके पहुंचे हैं. उधर एक महत्वपूर्ण बदलाव में तुर्की ने इराकी कुर्द लड़ाकों की सहायता करने का एलान किया है.

कई हफ्तों से इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों के हमले का सामना कर रहे उत्तर सीरियाई शहर कोबानी से मंगलवार को नई लड़ाई के संकेत हैं. सीरियाई मानवाधिकार निगरानी संस्था के अनुसार आईएस के नियंत्रण वाले शहरों रक्का और जरबालुल से कट्टरपंथी इस्लामी लड़ाके अपने साथियों की मदद के लिए पहुंचे हैं. सोमवार को जिहादियों के दो विफल आत्मघाती हमलों के बाद फिर से लड़ाई छिड़ गई.

तुर्की ने सोमवार को उत्तरी इराक के कुर्दों को वीजा दिए जाने के बावजूद अब तक पशमर्गा लड़ाके कोबानी नहीं पहुंच पाए हैं. तुर्की ने उन्हें सीरिया पार करने में मदद करने का फैसला किया था ताकि वे साथी कुर्द लड़ाकों की मदद आईएस से लड़ने में कर सकें.

तुर्की की परोक्ष मदद

इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों को रोकने के लिए कुर्द लड़ाके भी पूरी ताकत से डटे हुए हैं. तुर्की के विदेश मंत्री मेवलुत चावुचोग्लू ने कुर्दों को सीधी मदद देने से इंकार किया है. उनकी यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब पहली बार अमेरिका ने कुर्दों की मदद के लिए हथियार, दवाई और अन्य सामग्री विमान से गिराए हैं. तुर्की कुर्द पशमर्गा लड़ाकों को इस्लामिक स्टेट से घिरे कोबानी जाने का रास्ता दे रहा है. लेकिन चावुचोग्लू ने यह नहीं बताया कि तुर्की कोबानी का बचाव करने वाले कुर्द लड़ाकों को विमान से हथियार गिराने के अमेरिका के फैसले का समर्थन कर रहा है.

अंकारा पर भी कोबानी के कुर्दों की मदद का दबाव है लेकिन वह मानवीय सहायता से आगे नहीं बढ़ पाया है. उसका कहना है कि वह पशमर्गा सैनिकों को कोबानी जाने का रास्ता दे रहा है. चावुचोग्लू ने इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी और यह भी अब तक साफ नहीं है कि कैसे और कहां से तुर्की कुर्द लड़ाकों को सीरिया में जाने दे रहा है, लंबे समय से तुर्की उन्हें रोकता आया है.

कुर्दों का गढ़ है कोबानी

इस्लामिक स्टेट ने कोबानी को पिछले एक महीने से घेरा हुआ है लेकिन तुर्की वहां कुर्द लड़ाकों को हथियारों की आपूर्ति के लिए अपने क्षेत्र के उपयोग की अनुमति नहीं दे रहा है. अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि उसके विमानों ने कोबानी के कुर्दों को हथियार और मेडिकल सामग्री की आपूर्ति की. अमेरिकी सेना की केंद्रीय कमान ने बताया कि यह आपूर्ति उसके सी-130 परिवहन विमानों से की गई है.

अमेरिकी सैन्य कमान का कहना है कि उसके विमानों ने जिस सैन्य सामग्री और दवाइयों की आपूर्ति की वह उसे इराक के कुर्द अधिकारियों ने दिये थे. अमेरिका का कहना है कि सीरिया में इस्लामिक स्टेट पर उसके हवाई हमले से कोबानी में इस संगठन के लड़ाकों का आगे बढ़ना रुक गया है. अब तक अमेरिकी विमानों ने 135 हवाई हमले किए हैं. अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी मंगलवार को बर्लिन में जर्मन विदेश मंत्री फ्रांक-मायर श्टाइनमायर के साथ कोबानी की स्थिति पर चर्चा कर रहे हैं.

एए/एमजे (एपी, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री