1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कुरैशी से प्रेरणा लें क्रिकेटरः अफरीदी

पाकिस्तानी क्रिकेट कप्तान शाहिद अफरीदी ने खिलाड़ियों को टेनिस के सूरमा ऐसाम उल हक कुरैशी के संघर्ष से प्रेरणा लेकर इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले में जान लगाने को कहा है. कुरैशी भारतीय जोड़ी के साथ यूएस ओपन के उपविजेता रहे.

default

अफरीदी ने कहा कि कुरैशी ने पाकिस्तान का सिर गर्व से ऊंचा किया है और ये देखना अच्छा है कि क्रिकेट के अलावा दूसरे खिलाड़ियों की भी देश में तारीफ हो रही है. अफरीदी ने कहा, "कुरैशी के खेल से हम सबको प्रेरणा मिली है और देशवासियों को भी बेहद खुशी हुई. मेरे ख्याल से हमारे खिलाड़ियों को भी उससे प्रेरणा लेनी चाहिए. खेल में कुछ भी असंभव नहीं है." अफरीदी ने कहा कि भले ही कुरैशी फाइनल में हार गए लेकिन उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश की और यही वजह है कि हर किसी को उन पर फख्र है.

Aisam-Ul-Haq Qureshi Tennis Pakistan

पाकिस्तान के स्टार टेनिस खिलाड़ी हैं कुरैशी

पाकिस्तानी कप्तान ने उम्मीद जताई है कि क्रिकेट खिलाड़ी भी इंग्लैंड के साथ बाकी बचे वनडे मैचों में संघर्ष करेंगे. पांच मैचों की सीरीज़ में इंग्लैंड ने दो मैच जीतकर बढ़त बना ली है. अफरीदी के कहे का पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर असर होता हुआ भी दिखा और उन्होंने शुक्रवार को तीसरे मैच में इंग्लैंड को 23 रन से हराकर मुकाबले में वापसी कर ली है. मैच फिक्सिंग के आरोपों में घिरने के बाद पाकिस्तानी टीम की ये पहली जीत है. जीत के नायक रहे उमर गुल जिन्होंने छह विकेट लेकर करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया.

इस बीच लंदन में पाकिस्तान के उच्चायुक्त वाजिद शमसुल हसन ने राष्ट्रपति जरदारी से पीसीबी की शिकायत करते हुए पत्र लिखने की खबरों को गलत कहा है. एक पाकिस्तानी अखबार ने इस बारे में खबर छापी थी. इसमें कहा गया कि हसन ने राष्ट्रपति जरदारी को पत्र लिखा है जिसमें उनका कहना है कि स्पॉट फिक्सिंग मामले को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने ठीक ढंग से नहीं निपटाया. इस खबर पर जब हसन से सवाल पूछे गए तो वो नाराज हो गए और कहा, "मैंने स्पॉट फिक्सिंग के बारे में किसी से बात नहीं की है, मैंने किसी से कुछ नहीं कहा."

हालांकि खेल मंत्रालय के सूत्रों से मिली जानकारी में अब भी यही कहा जा रहा है कि हसन ने पीसीबी की शिकायत की है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links