1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कुंबले देंगे दक्षिण अफ्रीका को फिरकी की कोचिंग

स्टार लेगी के नाम से मशहूर भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले दक्षिण अफ्रीकी स्पिनरों को फिरकी के गुर सीखाएंगे. कुंबले का कोचिंग क्लीनिक अगले हफ्ते शुरू होगा. साथ में पॉल हैरिस और जॉन बोथा भी होंगे.

default

 डेड विकेट पर भी बल्लेबाजों को पैवेलियन लौटाने की कुबंले की महारथ दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड से भी नहीं छुपी है. यही वजह है कि दक्षिण अफ्रीका ने अपने युवा स्पिनरों के लिए एक विशेष ट्रेनिंग क्लीनिक शुरू किया है.

क्रिकेट साउथ अफ्रीका के सीईओ गेराल्ड माजोला ने कहा, ''कुंबले एक जीती जागती महान हस्ती हैं. हम खुशनसीब हैं कि उन्होंने हमारे न्योते को स्वीकार कर दक्षिण अफ्रीका आने का फैसला किया है. वह हमारे भविष्य के स्टार खिलाड़ियों को ट्रेनिंग देंगे.''

क्रिकेट साउथ अफ्रीका का कहना है कि 619 टेस्ट विकेट लेने वाले कुंबले की ट्रेनिंग से अच्छे स्पिनरों की कमी खत्म की जा सकेगी. कुंबले के अलावा पूर्व स्पिनर पॉल हैरिस और  जॉन बोथा भी फिरकी कैंप में हिस्सा लेंगे. दक्षिण अफ्रीकी टीम एक अरसे से अच्छे स्पिनर के लिए तरसती रही है. टीम के पास बढ़िया स्पिनर के तौर पर निकी बोए थे, लेकिन वह भी मैच फिक्सिंग में फंस गए.

अब नौबत यह है कि कप्तान ग्रेम स्मिथ को खुद स्पिन आक्रमण की कमान संभालनी पड़ती है. स्पिनरों की कमी के चलते बल्लेबाजी पर भी असर पड़ता है. नेट प्रैक्टिस में बिना स्पिनरों के अभ्यास करने से अक्सर टीम विपक्षी टीम के बढ़िया स्पिनरों के सामने लाचार नजर आ जाती है. 

लेकिन अब यह तीनों पूर्व खिलाड़ी महिलाओं को भी गेंद पर कलाई और अंगुलियों का जादू सीखएंगे. गेराल्ड माजोला कहते हैं, ''हम अपने कैंप में महिला स्पिनरों को बुला रहे हैं. हम महिला बल्लेबाजों और विकेटकीपरों को भी बुलाएंगे. हमे लगता है कि इस कैंप से सभी को फायदा होगा.''

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन:  ए जमाल

DW.COM

WWW-Links