1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कीवी पस्त नहीं, भारत मदमस्त नहीं

गुरुवार को जब भारत की टीम पहले टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैदान पर उतरेगी तो उसका मकसद टेस्ट क्रिकेट में बादशाहत की ताकत को बढ़ाना होगा. हाल ही में ऑस्ट्रेलिया को 2-0 से पीटकर भारत के हौसले बुलंदी पर हैं.

default

डेनियल वेटोरी की कप्तानी में कीवियों के लिए यह सीरीज आसान नहीं होगी. उनकी टीम हाल ही में बांग्लादेश से वनडे सीरीज हारकर आई है. 4-0 से मिली इस हार ने उनके उत्साह को काफी नुकसान पहुंचाया है और उन्हें नई शुरुआत करनी है. वेटोरी भी इस बात को मानते हैं. उन्होंने कहा, "बांग्लादेश का दौरा बहुत ज्यादा निराशाजनक रहा. हम भारत में सब ठीकठाक करने की कोशिश करेंगे. हमारे लिए यह नई शुरुआत है."

अहमदाबाद में पत्रकारों से बातचीत में वेटोरी ने कहा कि उनका भरोसा उनके नए खिलाड़ी हैं. वेटोरी बोले, "यह टेस्ट क्रिकेट है और हमारे साथ कुछ नए खिलाड़ी हैं जिन पर बांग्लादेश की हार का असर नहीं हुआ है."

Cricket Bangladesh gegen Neuseeland

बांग्लादेश ने बुरी तरह से धोया कीवियों को

वेटोरी अहमदाबाद में जब टेस्ट मैच खेलने उतरेंगे तो उनके लिए खास पल होगा. यह उनका 100वां टेस्ट मैच होगा. लेकिन उनका पूरा ध्यान टीम के सुधार पर है. वह कहते हैं, "जब आप 4-0 से हारते हैं तो तीखी आलोचना होना लाजमी है. यह आलोचना हमारे खेल को सुधारने के लिए उत्तेजक का काम कर सकती है."

भारत का हौसला इसलिए भी बढ़ा होगा क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरा मैच उसने वीवीएस लक्ष्मण, गौतम गंभीर और ईशांत शर्मा के बिना जीता था. एक विकेट से मिली इस रोमांचक जीत की खुशी और खिलाड़ियों की वापसी उसके लिए राहत का सबब है. ये तीनों खिलाड़ी अपनी चोटों से उबर कर लौट आए हैं. लेकिन भारतीय टीम इस खुशी में बह जाने को तैयार नहीं है.

स्पिनर हरभजन सिंह कहते हैं कि टीम का पूरा ध्यान इसी ओर है. वह कहते हैं, "बांग्लादेश के हाथों न्यूजीलैंड का इस तरह हार जाना हैरतअंगेज जरूर था, लेकिन हम यह मानकर नहीं चल रहे हैं कि अब न्यूजीलैंड को आसानी से हरा देंगे. हमें अपना ध्यान केंद्रित रखना होगा. हम न्यूजीलैंड से मुश्किल चुनौती की उम्मीद कर रहे हैं."

दोनों देशों को तीन टेस्ट मैच खेलने हैं. दूसरा टेस्ट हैदराबाद में 12 नवंबर से और तीसरा नागपुर में 20 नवंबर से शुरू होगा. इसके बाद पांच वनडे मैचों की सीरीज होगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links