1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

किम जोंग नम की हत्या के आरोपी महिलाओं का साजिश से इनकार

उत्तर कोरियाई शासक किम जोंग उन के भाई किम जोंग नम की हत्या में आरोपी दो महिलाओं पर मलेशियाई अदालत में मुकदमा चल रहा है. अदालत में दोनों ने खुद को बेकसूर बताते हुए किसी भी साजिश से इनकार किया है.

तस्वीर के बायें तरफ नजर आ रही मलेशियाई महिला सीती आसिया और दायें ओर नजर आ रही वियतनाम की दोआन थी हुओंग ने मलेशियाई अदालत में अपना पक्ष रखा है. दोनों महिलाओं पर किम जोंग नाम को जहर देकर मारने का मुकदमा चल रहा है. आरोपी महिलायें पहले भी ऐसे किसी आरोप से इनकार करती रहीं हैं. अदालत में उन्होंने कहा कि उन्हें फंसाया गया है. उन्होंने कहा कि वे उस पूरी घटना को किसी टीवी शो का प्रैंक समझ रहीं थीं इसलिये उन्हें इस बारे में कुछ नहीं पता.

बचाव पक्ष के वकील ने अपनी दलील में कहा, "असली आरोपी ने मलेशिया छोड़ दिया है और इन महिलाओं की बेगुनाही अदालत में साबित हो जायेगी." दोनों महिलाओं ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्हें भरोसा है कि उनकी बेगुनाही साबित होगी. लेकिन अगर इन दोनों महिलाओं को दोषी पाया जाता है तो इन्हें मृत्युदंड भी दिया जा सकता है. इस मामले का ट्रायल दो महीने तक चलेगा.

किम जोंग नाम की हत्या के पीछे उत्तर कोरियाई साजिश के भी कयास लगाये जाते रहे हैं. उत्तर कोरियाई शासक अपनों को ठिकाने लगाने के लिए बदनाम रहे हैं. मलेशियाई अधिकारियों का आरोप है कि दोनों महिलाओं को उत्तर कोरियाई एजेंटों ने प्रशिक्षण दिया था ताकि किम को जहर देकर मारा जा सके. अधिकारियों के मुताबिक एक फुटेज से ऐसा पता चलता है कि दो महिलाओं ने किम को पीछे से इशारा किया और उसके चेहरे पर कुछ लगा कर भाग गई. वहीं दक्षिण कोरियाई खुफिया एजेंसी के मुताबिक उत्तर कोरिया ने इसके लिए दो संदिग्धों की भर्ती की थी. इस हत्याकांड की जांच से जुड़े दक्षिण कोरियाई यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर के मुताबिक यह हत्या किसी बड़े मास्टरप्लान का हिस्सा है. 

उत्तर कोरिया ने ऐसे दावे से इनकार किया है. हालांकि किम जोंग नम की हत्या के बाद मलेशिया और उत्तर कोरिया के बीच रिश्तों में तनाव बढ़ा है. दोनों देशों ने एक-दूसरे के राजदूतों को वापस भेज दिया था.

एए/एनआर (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री