1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कालिस ने मैच छीन लियाः धोनी

टीम इंडिया के कप्तान समझते हैं कि दोनों पारियों में शतक बनाने वाले जैक कालिस ने अकेले दम पर मैच भारत के हाथों से छीन लिया. धोनी के मुताबिक 250 का लक्ष्य मिलता, तो नतीजा और होता.

default

महेंद्र सिंह धोनी

मैच के बाद भारतीय कप्तान ने कहा, "गेंदबाजों ने अच्छा काम किया. बदकिस्मती से हम आखिर में उनके कुछ विकेट नहीं ले सके. हम एक विकेट और ले पाते तो लक्ष्य 250-260 तक रह जाता. फिर हम जीतने के मौकों के बारे में सोचते."

महेंद्र सिंह धोनी ने कूकाबूरा गेंदों की प्रकृति के बारे में भी बात की. उन्होंने कहा, "कूकाबूरा गेंदें 40 ओवरों के बाद कुछ

Kricket Jacque Kallis

खास नहीं कर पातीं. हमारे गेंदबाजों को रफ्तार से ज्यादा हुनर पर निर्भर रहना पड़ा. ऐसे में जब कालिस जैसा खिलाड़ी सेट हो जाता है, तो उसे आउट करना बहुत मुश्किल हो जाता है." उन्होंने कहा कि कालिस और बाउचर की साझेदारी को न तोड़ पाना महंगा साबित हुआ और मैच उनके हाथ से निकल गया.

लेकिन कुल मिलाकर धोनी ने इस सीरीज को दिलचस्प करार दिया. सीरीज के पहले मैच में भारत को करारी हार का सामना करना पड़ा. लेकिन दूसरे मैच में उसने वापसी की और मैच जीत लिया. धोनी कहते हैं, "यह मजेदार सीरीज रही. हमें तो पिछड़कर वापसी करने की आदत सी हो गई है. हम पहले मैच में कभी अच्छा नहीं कर पाते. लेकिन बल्लेबाजों ने बढ़िया खेल दिखाया. डरबन में गेंदबाजों ने कमाल का प्रदर्शन किया. यहां भी आखिर के कुछ विकेट से पहले तक वे बढ़िया खेले."

धोनी को लगता है कि इस सीरीज में कई अच्छी चीजें हुईं. उन्होंने हरभजन की शानदार गेंदबाजी का जिक्र किया और टीम की एकजुटता की भी तारीफ की.

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रेम स्मिथ भी सीरीज से खुश नजर आए. उन्हें लगता है कि इस सीरीज ने साबित कर दिया कि दोनों टीमें बराबर हैं. स्मिथ ने कहा, "पिछले दो साल में हमने तीन टेस्ट सीरीज खेली हैं और नतीजा रहा है एक-एक. यह दिखाता है कि दोनों टीमें बिल्कुल बराबर हैं. इससे यह भी साबित होता है कि दोनों टीमों में मुकाबले की भावना कितनी जबर्दस्त है. हर सत्र मजेदार रहा. हमने कालिस और सचिन का शानदार खेल देखा." स्मिथ ने कहा कि दुनिया की दो सबसे अच्छी टीमों के बीच और ज्यादा मैच खेले जाने चाहिए.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links