1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कार्टून की दुनिया में भी एएफडी का जलवा

जर्मन चुनावों में राजनीतिक दलों के प्रदर्शन को कार्टूनिस्टों ने अलग-अलग तरीके से उकेरा है. लेकिन यहां चांसलर मैर्केल की चुनावी जीत को कम बल्कि एएफडी के अच्छे प्रदर्शन को स्केचों में ज्यादा जगह मिली है.

जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल की पार्टी सीडीयू के वोटों में आई कमी का सीधा फायदा धुर दक्षिणपंथी पार्टी एएफडी को हुआ है. एएफडी ने ना सिर्फ मैर्केल की सीडीयू को नुकसान पहु्ंचाया है बल्कि मैर्केल के लिए तल्ख तेवरों वाला विपक्ष भी तैयार किया है. कार्टूनिस्टों ने जर्मन राजनीति के भविष्य और मैर्केल के भावी कार्यकाल पर ऐसे ही व्यंगय किया है. ऑस्ट्रेलिया के कार्टूनिस्ट डेविड रो ने ऑस्ट्रेलियन फाइनेंशियल रिव्यू में एक स्केच प्रकाशित किया है, जो एएफडी के उभार को दिखाते हुए चांसलर मैर्केल के भी दक्षिणपंथ की ओर जाने का इशारा करता है.

जर्मनी के पड़ोसी देश ऑस्ट्रिया के एक कार्टूनिस्ट ने इन चुनावों में वास्तविक विजेता मैर्केल को नहीं बल्कि किसी और को बताया है.

जर्मनी में एएफडी का उभार स्थानीय यहूदी समुदाय के लिए चिंता पैदा कर रहा है, जिसे इटली के कार्टूनिस्ट पाओलो लोम्बार्दी ने अपने स्केच में दिखाया है. 

कुछ कार्टूनिस्ट ने एएफडी के इस प्रदर्शन को कॉमिक्स और किताबों के काल्पनिक शत्रु किरदारों से जोड़ कर दिखाया है.

मशहूर जर्मन राजनीतिक कार्टूनिस्ट, हाइको सकुराई ने अपने स्केच में चुनाव के बाद पैदा हुई राजनीतिक वास्तविकता की ओर इशारा किया है.

बैंकॉक स्थित कार्टूनिस्ट ने उत्तर कोरिया और अमेरिका में उभरे तनाव के बीच, जर्मन चुनावों के महत्व की बात अपने इस स्केच के जरिये कही.

डिनो के नाम से मशहूर कार्टूनिस्ट ने अपने स्केच में मैर्केल की जीत की नींव को कमजोर बताया है.

 

संबंधित सामग्री