1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कानूनी दौड़ में हांफते पिस्टोरियस

ब्लेड रनर से ब्लेड गनर बने दुनिया के सबसे मशहूर विकलांग एथलीट ऑस्कर पिस्टोरियस की जमानत पर सुनवाई होने वाली है. लेकिन यह इतना आसान नहीं. पिछले हफ्ते गर्लफ्रेंड की हत्या करने के आरोपी पिस्टोरियस के सामने क्या है रास्ता.

पिस्टोरियस ने खुद इस मामले में कोई याचिका नहीं दी है लेकिन परिवार वालों का कहना है कि वे इस बात को लेकर निश्चिंत हैं कि 26 साल के पिस्टोरियस हत्या जैसा काम नहीं कर सकते हैं. उन पर अपनी 29 साल की गर्लफ्रेंड रीवा स्टीनकैंप की हत्या का आरोप है.

देखते हैं इस मामले के अहम पहलू

ब्लेड रनरः लंदन ओलंपिक में 2012 में हिस्सा लेने के साथ ही पिस्टोरियस ने इतिहास बना दिया. वह एथलेटिक्स में जगह बनाने वाले दुनिया के पहले ऐसे विकलांग खिलाड़ी हैं, जिनकी दोनों टांगें कटी हुई हैं. वह कार्बन फाइबर की पट्टियों के सहारे चलते और दौड़ते हैं.

शुरुआत में उनकी कार्बन फाइबर पट्टी की वजह से उन पर प्रतिबंध लगाया गया था क्योंकि कुछ एक्सपर्ट का कहना था कि इससे उन्हें फायदा पहुंचता है. लेकिन बाद में यह पाबंदी हट गई और वे दुनिया की बड़ी प्रतियोगितायों में हिस्सा लेने लगे.

मॉडल गर्लफ्रेंडः स्टीनकैंप दक्षिण अफ्रीका की टॉप मॉडल थीं और पूरी दुनिया में खूबसूरती के लिए जानी जाती थीं. उन्हें दो बार दुनिया की 100 सबसे सेक्सी महिलाओं की सूची में जगह मिली है. वह पिछले साल नवंबर में पिस्टोरियस से मिलीं और दोनों में प्यार हो गया.

वैलेंटाइंस डे हत्याकांडः फरवरी की 14 तारीख को जब दुनिया वैलेंटाइंस डे मना रही थी, पिस्टोरियस के घर में हत्या हो गई. पुलिस ने वहां पहुंच कर पिस्टोरियस को गिरफ्तार कर लिया. वहां स्टीनकैंप की लाश मिली, जिस पर चार गोलियों के निशान हैं.

पुलिस ने शुरू में हत्या की वजह नहीं बताई लेकिन बाद में पिस्टोरियस पर हत्या की धाराएं लगा दीं. रिपोर्टें हैं कि पिस्टोरियस के घर की जांच में खून से सना एक क्रिकेट बैट भी मिला है.

पिस्टोरियस का अतीतः पहले भी ब्लेड रनर की जिंदगी में परेशानियां आ चुकी हैं. साल 2009 में उन्होंने एक स्पीडबोट को दक्षिण अफ्रीका की वाल नदी में टकरा दिया था. इससे उनकी नाक टूट गई और चेहरे पर 180 टांके लगाने पड़े.

चश्मदीदों का कहना है कि वह शराब पी रहे थे और मलबे से अल्कोहल की बोतलें भी मिलीं. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक नवंबर में भी वह एक सार्वजनिक जगह पर एक औरत से उलझ गए. बाद में दोनों के बीच समझौता हो गया.

पिस्टोरियस बंदूक को लेकर बहुत संवेदनशील थे और हथियारों से प्यार करते थे. इस बारे में उन्होंने एक बार ट्वीट भी किया.

जमानत सुनवाईः मंगलवार और बुधवार को जमानत याचिका की सुनवाई के समय प्रिटोरिया के चीफ मजिस्ट्रेट डेसमंड नायर दोनों पक्षों की दलीलें सुनेंगे. इस दौरान गोली चलाने की असल वजह सामने आ सकती है. एक थ्योरी है कि पिस्टोरियस ने अपनी गर्लफ्रेंड को चोर समझ कर गोली चलाई होगी.

पिस्टोरियस के वकील जहां उन्हें जमानत देने की मांग करेंगे, वहीं अभियोजन पक्ष की दलील होगी कि ऐसा करने पर मामले पर असर पड़ेगा. हो सकता है कि निजी मुचलके और पासपोर्ट समर्पण के बाद उन्हें जमानत मिल जाए. अगर जमानत नहीं मिली, तो उन्हें थाने से जेल जाना होगा.

दक्षिण अफ्रीका की न्याय व्यवस्थाः सिर्फ कुछ देशों में रोमन डच न्याय व्यवस्था है, जिनमें दक्षिण अफ्रीका भी शामिल है. इसकी वजह से अदालत में पेश होने वालों को जूरी से न्याय नहीं मिल सकता, जैसा कि अमेरिका जैसे देशों में होता है. इसकी जगह सिर्फ एक जज ही फैसला सुनाता है कि आरोपी दोषी है या निर्दोष.

अगर आरोपी हत्या का दोषी पाया गया, तो उसे जीवन भर की कैद की सजा हो सकती है. दक्षिण अफ्रीका में फांसी की सजा नहीं है.

एजेए/ओएसजे (एपी)

DW.COM

WWW-Links