1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

काइट्स की उड़ान से हृतिक निराश नहीं

खूब चर्चा के बाद काइट्स फिल्म रिलीज हुई और पहले दिन 21 करोड़ का कारोबार भी किया. लेकिन फिल्म समीक्षकों ने इसे बहुत अच्छे नंबर नहीं दिए हैं. फिर भी हृतिक रोशन निराश नहीं हैं और कहते हैं कि वह समीक्षकों की परवाह नहीं करते.

default

हृतिक को काइट्स का भरोसा

बारबरा मोरी के साथ हृतिक रोशन की फिल्म काइट्स इसी हफ्ते रिलीज हुई है और 3 इडियट्स के बाद इनसे सबसे अच्छी ओपनिंग की है. पहले दिन में ही फिल्म ने 21 करोड़ रुपये का कारोबार किया है. लेकिन अनुराग बासु के निर्देशन में बनी इस फिल्म को फिल्म समीक्षकों ने बहुत ज्यादा पसंद नहीं किया. उनका कहना है कि फिल्म में कहानी और स्क्रीनप्ले की कमी है.

हृतिक अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए नोएडा में थे. उन्होंने खराब समीक्षाओं को दरकिनार करते हुए कहा कि 140 करोड़ रुपये की लागत से बनी इस फिल्म के लिए उन्होंने जीतोड़ मेहनत की है और विदेशों में इसकी अच्छी रीव्यू है.

Bollywood Schauspielerin Ashwarya Rai bei der Pemiere von Jodha Akbar

हृतिक और ऐश्वर्या

पापा रोशन के साथ कहो न प्यार है, कोई मिल गया और क्रिश जैसी सफल फिल्में देने वाले 36 साल के हृतिक रोशन का कहना है कि काइट्स ही दरअसल उनके करियर की सबसे अच्छी फिल्म है.

लेकिन समीक्षकों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "मैं उन सब पर विश्वास नहीं करता हूं. जब मैं फिल्मों में आया तो उन्होंने मुझे भगवान बना दिया और दो साल बाद मुझे खत्म हुआ घोषित कर दिया. इसलिए मुझे अपने दिल की बात सुननी चाहिए और उसी हिसाब से काम करना चाहिए. न कि फिल्म समीक्षकों को खुश करने के लिए."

रिलायंस बिग पिक्चर्स के संजीव लांबा ने कहा, "यह अंतरराष्ट्रीय दर्शकों को ध्यान में रख कर बनाई गई फिल्म है और 30 देशों में एक साथ रिलीज हुई है. हर जगह हाउस फुल है."

फिल्म का अंतरराष्ट्रीय संस्करण काइट्सः द रीमिक्स को हॉलीवुड डायरेक्टर ब्रेट रैटनर ने एडिट किया है और यह 28 मई को प्रदर्शित की जाएगी. काइट्स में हृतिक के साथ बारबरा हैं, जो न हिन्दी बोल सकती हैं और न ही इंग्लिश. फिर भी स्पैनिश बोलते हुए दोनों में करीबी आती है. देखना है कि काइट्स की यह उड़ान कितनी ऊंची होती है और यह कितनी पतंगों को काट पाने में कामयाब होती है.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

संबंधित सामग्री