1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कांग्रेस के संकटमोचक मंत्री के ठिकानों पर छापे

गुजरात के 44 विधायकों के लिए बेंगलुरू में बढ़िया इंतजाम करने वाले मंत्री के ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापे मारे हैं. छापों में नकदी भी बरामद हुई है.

छापेमारी सुबह सात बजे शुरू हुई. आयकर विभाग की टीमों ने बेंगलुरू, दिल्ली और कनकपुरा में कई घंटों तक छापेमारी की. इनकम टैक्स के अधिकारी शिवाकुमार के रिश्तेदारों के ठिकानों पर भी पहुंचे. प्रदेश के ऊर्जा मंत्री शिवाकुमार के भाई के सुरेश, चेचरे भाई और एमएलसी एस रवि के ठिकानों को भी टटोला गया. कुल 39 जगहों पर छापे मारे गये. दिल्ली में मंत्री के एक घर से 7.5 करोड़ रुपये की नकदी भी बरामद हुई है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक इनकम टैक्स अधिकारी शिवाकुमार को बेंगलुरू के लक्जरी रिजॉर्ट के सिलसिले में पूछताछ के लिए अपने साथ भी ले गये. गुजरात से कर्नाटक पहुंचे 44 विधायकों की व्यवस्था करने का जिम्मा कांग्रेस ने शिवाकुमार को ही दिया था.

आयकर विभाग ने ऊर्जा मंत्रालय के केस का हवाला देते हुए छापे मारने का दावा किया है. विभाग ने छापों के दौरान एक बयान जारी करते हुए कहा, "सर्च टीम को विधायकों से कोई मतलब नहीं है और विधायकों से सर्च टीम ने कोई संपर्क भी नहीं किया. यह बात फिर दोहरायी जाती है कि इनकम टैक्स का छापा सिर्फ कर्नाटक के एक मंत्री पर पड़ा है." आईटी डिपार्टमेंट के मुताबिक मंत्री के खिलाफ एक जांच चल रही है. छापों को सबूत जुटाने की कोशिश बताया गया है.

(कितने राज्यों में सत्ता में है बीजेपी)

वहीं कांग्रेस का आरोप है कि ये छापे बीजेपी के इशारों पर मारे जा रहे हैं. कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि केंद्र की बीजेपी सरकार राज्यसभा के चुनावों को प्रभावित करना चाहती है और उसके लिए ऐसे छापों का सहारा ले रही है. राज्यसभा चुनावों में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सोनिया गांधी के सलाहकार अहमद पटेल की सीट दांव पर लगी है. पटेल गुजरात से राज्यसभा में आना चाहते हैं.

लेकिन कुछ समय पहले ही गुजरात के दिग्गज कांग्रेसी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. वाघेला के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के छह विधायकों ने पार्टी को अलविदा कह दिया. इसके बाद यह आशंका होने लगी कि कांग्रेस के कई और विधायक टूटेंगे और अहमद पटेल का राज्यसभा तक पहुंचना असंभव हो जाएगा. ऐसी अटकलों के बाद बाढ़ प्रभावित गुजरात के 44 कांग्रेस विधायक फ्लाइट से बेंगलुरू पहुंचे. फिलहाल वे कर्नाटक सरकार की शरण में हैं.

अहमद पटेल ने बीजेपी पर सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करने का आरोप भी लगाया है. ट्विटर पर बीजेपी की आलोचना करते हुए पटेल ने कहा, "सरकारी मशीनरी और हर एजेंसी का इस्तेमाल करने के बाद, आयकर विभाग के यह छापे मायूसी और झल्लाहट को दिखाते हैं."

ओएसजे/एके (पीटीआई)

DW.COM

संबंधित सामग्री