1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कस्तूरबा धाम से बापू की धरोहरें चोरी

राजकोट के पास कस्तूरबा धाम में चोरी. प्रदर्शनी के दौरान गांधी जी की कई चीजें चुराई. दो ट्रस्टियों पर बापू की धरोहरों का अमेरिका में बेचा के आरोप. चश्मे, खड़ाऊं और कटोरे तक बेच दिए.

default

राजकोट के पास कस्तूरबा धाम में गांधी जी की कुछ निजी वस्तुओं की प्रदर्शनी लगी थी जिसमें से कुछ वस्तुएं गायब हो गई हैं. अब कस्तूबा धाम के दो ट्रस्टियों पर आरोप है कि उन्होंने ये चीजें गायब की और अमेरिका में इनकी बोली लगाई.

इस मामले में कस्तूरबा धाम के मैनेजर जयसिंह राठौर ने एक शपथपत्र जॉइन्ट चैरिटी कमिश्नर को सौंपा है. राठौर ने आरोप लगाया है कि ट्रस्टी प्रवीण आह्या ने बापू के लेख गायब किए और उनको अमेरिका में बेच दिया. दूसरे ट्रस्टी विभाकर वाच्छारजनी पर उन्होंने आह्या को सहायता करने का आरोप लगाया है.

Mahatma Gandhi - Auktion

चश्मा, खड़ाऊं और कटोरे चोरी

राठौर का दावा है कि इन दोनों ट्रस्टियों ने महात्मा गांधी के चश्मे, सैंडल, प्लेट और बाउल बेच दिए. कस्तूरबा धाम गुजरात में त्रांबा के पास है जहां आज़ादी की लड़ाई के दौरान महात्मा गांधी की पत्नी को नज़रबंद रखा गया था. अब इसे संग्रहालय बना दिया गया है और गांधी की जी कई वस्तुएं यहां रखी हुई हैं.

इस बीच ट्रस्ट्री विभाकर ने इन सभी आरोपों से इनकार किया है लेकिन ये बात मानी है कि फिलहाल ये चीज़ें कस्तूरबा धाम में नहीं हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि पहले गांधी जी ये निजी वस्तुएं वहां रखी थीं या नहीं इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है.

रिपोर्टः पीटीआई/आभा एम

संपादनः ओ सिंह

संबंधित सामग्री