1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

कसाब को सजा निष्पक्ष न्याय का नतीजाः अमेरिका

अमेरिका ने मुंबई के आतंकवादी हमलों के दोषी आमिर अजमल कसाब को मिली मौत की सजा को बिलकुल सही बताते हुए कहा कि यह एक निष्पक्ष न्याय का नतीजा है. अमेरिका का कहना है कि भारत में न्याय प्रक्रिया पारदर्शी और निष्पक्ष है.

default

मुंबई की जेल में कसाब

अमेरिका के पब्लिक अफेयर मामलों के उप राज्यमंत्री पीजे क्राउले ने कहा, "यह भारत की न्याय प्रक्रिया का एक हिस्सा था. निश्चित तौर पर हमने भारत को प्रोत्साहित किया है. हमने मुंबई हमलों की जांच में भारत की मदद की है. लेकिन यह एक भारतीय कानूनी प्रक्रिया थी और इसमें पारदर्शिता साफ दिखती है."

रोजाना की प्रेस ब्रीफिंग में जब उनसे सवाल पूछा गया तो क्राउले ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ हमें भारत से लगातार सहयोग मिल रहा है और यह जारी रहेगा.

Terror in Mumbai

तीन दिन चला मुंबई हमला

26/11 के आतंकवादी हमले में एकमात्र जिन्दा पकड़ा गया आतंकवादी आमिर अजमल कसाब पाकिस्तान का नागरिक है. मुंबई की एक विशेष अदालत ने उसे छह मई को जनसंहार और भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने जैसे कई मामलों में दोषी पाया और उसे मौत की सजा सुनाई गई है.

नवंबर, 2008 में मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी. भारत का दावा है कि हमले की साजिश पाकिस्तान में रची गई. 10 हमलावरों ने भारत में उत्पात मचाया था, जिनमें से नौ मुठभेड़ में मारे गए.

कसाब को फांसी दिए जाने से पहले उसका मामला बॉम्बे हाई कोर्ट में आएगा. हालांकि इस मामले में अभी लंबी कानूनी प्रक्रिया बाकी है. कसाब ऊपर की अदालतों में सजा के खिलाफ अपील कर सकता है. अगर सुप्रीम कोर्ट ने भी उसकी मौत की सजा बरकरार रखी, तो कसाब राष्ट्रपति के पास क्षमा याचना कर सकता है.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संबंधित सामग्री