1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

"कसाब को इसी साल हो सकती है फांसी"

भारत ने कहा है कि मुंबई हमलों में दोषी करार पाकिस्तानी नागरिक अजमल आमिर कसाब को इसी साल फांसी दी जा सकती है. भारत के गृह सचिव का कहना है कि अगर कानूनी अड़चनें दूर हो गईं तो कसाब को साल के अंत तक फांसी दी जा सकती है.

default

इसी साल हो सकती है फांसी

गृह सचिव जीके पिल्लई ने भारत के एक समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा, “अगर उसकी (कसाब) तरफ से उच्च न्यायालय में विशेष अदालत के फैसले के खिलाफ कोई अर्जी नहीं दी जाती, तो उसे इसी साल के अंत तक फांसी पर लटकाया जा सकता है.”

छह मई को मुंबई की एक विशेष अदालत ने आमिर अजमल कसाब को मौत की सजा सुनाई थी. अदालत ने 22 साल के कसाब को नरसंहार और भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने के आरोपों का दोषी पाया. मुंबई में नवंबर, 2008 में हुए आतंकवादी हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी. हमलों के बाद कसाब एकमात्र जिन्दा पकड़ा गया हमलावर है. उसके पाकिस्तानी नागरिक होने की पुष्टि हो चुकी है. वह लश्कर ए तैयबा का सदस्य है. मुंबई पर 10 बंदूकधारियों ने हमला किया था, जिनमें से नौ मुठभेड़ में मारे गए.

Flash-Galerie Anschläge Mumbai Indien 2008

भारत में मौत की सजा का प्रावधान है लेकिन देश में पिछले कई सालों से किसी को फांसी नहीं दी गई है. हालांकि कई लोगों को मौत की सजा मिल चुकी है और उन्हें सजा का इंतजार है. 2001 में भारत के संसद पर आतंकवादी हमले के दोषी करार दिए जा चुके अफजल गुरु को भी फांसी की सजा मिली है. इस बारे में पूछे जाने पर पिल्लई ने कहा कि उसकी माफी की याचिका पर भारत सरकार विचार कर रही है.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः उ भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री