1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

कश्मीर में फिर पांच लोगों की मौत

कश्मीर में सोमवार को सुरक्षा बलों के साथ झड़पों में और पांच लोगों की मौत हो गई. इनमें चार लोग सुरक्षा बलों की गोली से मारे गए जबकि एक व्यक्ति की मौत भगदड़ में हुई. मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने नई दिल्ली में चर्चा की.

default

जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने घाटी की बिगड़ती हालत पर नई दिल्ली में प्रधानमंत्री से मुलाकात की है. इस मुलाकात में मसले का राजनीतिक हल खोजने पर बात हुई.

बैठक में सुरक्षा मामलों पर कैबिनेट की समिति के सभी सदस्य मौजूद थे. वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी, गृह मंत्री पी चिदंबरम, रक्षा मंत्री ए के एंटनी और विदेश मंत्री एसएम कृष्णा की मौजूदगी में उमर अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री के सामने सारे हालात बयान किए.

मीटिंग में राज्य सरकार की हर तरह से मदद करने की बात कही गई. इसके अलावा राज्य पुलिस और सीआरपीएफ को जरूरी बैकअप देने की भी बात हुई. राज्य सरकार ने सजा काट चुके पूर्व आतंकवादियों को नौकरियां देकर उन्हें समाज में जगह देने के लिए भी मदद मांगी है. सूत्रों के मुताबिक खुफिया एजेंसियों को कहना है कि कश्मीर में पत्थरबाजी करने वालों में ज्यादातर वे लोग हैं जो पहले आतंकवादी थे और अब सजा काटने के बाद बेरोजगार हैं.

इससे पहले रविवार रात को भी कैबिनेट कमेटी की बैठक हुई, जिसमें कश्मीर के बिगड़ते हालात पर चर्चा की गई. पूरी कश्मीर घाटी में कर्फ्यू जारी है. वहां शुक्रवार से जारी हिंसा में 15 लोगों की मौत हो गई है. मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शांति की अपील की है और सब राजनीतिक दलों से कहा है कि सामान्य स्थिति बहाल करने सहयोग करें.

पुलिस सूत्रों का कहना है कि तीन दिन पहले दक्षिणी कश्मीर के बिजबेहड़ा इलाके में आंसूगैस के गोले से घायल होने वाले तारिक अहमद ने रविवार की रात दम तोड़ दिया. इस तरह घाटी में शुक्रवार से मरने वालों की संख्या 20 हो गई है. इनमें आठ लोगों की मौत रविवार को अलग अलग घटनाओं में हुई. कश्मीर के सभी दस जिलों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा बल कड़ी सतर्कता बरत रहे हैं.

रविवार को मारे गए लोगों में चार आम नागरिक हैं. श्रीनगर शहर के ख्रेव इलाके में जब दंगाइयों की भीड़ ने रविवार की रात एक पुलिस स्टेशन में आग लगाई तो वहां रखे विस्फोटक और एलपीजी सिलेंडर में धमाका हो गया. पुलिस ने बताया कि पांचवें घायल व्यक्ति ने रात को दम तोड़ दिया जबकि एक अन्य की हालत गंभीर बताई जाती है.

श्रीनगर से 20 किलोमीटर दूर भी दंगाइयों ने एक पुलिस थाने का घेराव किया. इसके बाद उन्होंने पथराव शुरू कर दिया. स्थिति नियंत्रण से बाहर होती देख अतिरिक्त सुरक्षा बलों को भेज कर थाने और पुलिसकर्मियों को मुक्त कराया गया. इस काम में सेना के जवानों की भी मदद ली गई.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

संबंधित सामग्री