1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कश्मीर के वार्ताकारों ने गृहमंत्री को रिपोर्ट सौंपी

जम्मू कश्मीर के लिए केंद्र सकार की तरफ से नियुक्त किये गए तीन वार्ताकारों की पैनल ने अपनी रिपोर्ट गृहमंत्री को सौंप दी है. वार्ताकारों ने कश्मीर की अशांति का हल निकलने की उम्मीद जताई है.

default

दिल्ली में गृहमंत्री से मुलाकात के बाद वार्ताकारों कमेटी के मुखिया दिलीप पडगांवकर ने कहा कि मामले का हल निकलने की पूरी उम्मीद है हालांकि उन्होने ये भी माना कि उनके पास कोई जादूई फॉर्मूला नहीं है.तीन सदस्यों की इस कमेटी ने आज चिदंबरम से मुलाकात कर अपनी रिपोर्ट सौंपी और वहां के हालात के बारे में गृहमंत्री को जानकारी दी.

P. Chidambaram Indien Minister

समचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में दिलीप पडगांवकर ने रिपोर्ट में क्या है इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी उन्होने बस इतना कहा,"ये वार्ताकार के रूप में हमारी कश्मीर की पहली यात्रा थी, हमने अपने सुझाव दे दिए हैं. इस मामले को सरकार और वार्ताकारों के बीच में ही रहने देना चाहिए."

ये पूछे जाने पर कि अब उनकी अगली कश्मीर यात्रा कब होगी या फिर क्या वो अलगाववादी गुटों से बात करेंगे, पडगांवकर ने कहा, "हमारे पास कोई जादुई फॉर्मूला नहीं है, सिवाए इसके कि अलगाववादियों को बातचीत की मेज पर लाने की कोशिश की जाए."

कश्मीर में पिछले जून से ही भारी अशांति है. पुलिस की गोली से एक किशोर की मौत के बाद भड़के विरोध प्रदर्शनों से राज्य की हालत बिगाड़ दी है. रोज रोज के कर्फ्यू और बंद ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है. इन विरोध प्रदर्शनों में अब तक 111 लोगों की जान गई है. अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे से ठीक पहले उग्रवादियों ने भी हलचल बढ़ा दी है. सोमवार से अब तक हुए अलग अलग मुठभेड़ों में छह उग्रवादी मारे गए हैं. सुरक्षा बलों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बिरादरी का ध्यान खींचने के लिए उग्रवादी कोई बड़ा हमला कर सकते हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links