1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कभी कुरान नहीं जलाएंगे विवादित पादरी

पवित्र कुरान को 9/11 के विरोध में जलाने की बात कहने वाले विवादास्पद पादरी टेरी जोन्स अब न्यूयॉर्क में हैं. जोन्स ग्राउंड जीरो पर इस्लामिक कल्चर सेंटर बनाने जा रहे मौलाना फैसल अब्दुल रऊफ से मिलेंगे.

default

फायरब्रांड पादरी टेरी जोन्स ने न्यूयॉर्क पहुंच गए हैं और कहा है कि उनका चर्च कभी भी कुरान नहीं जलाएगा. न्यूयॉर्क में एक टीवी चैनल से बातचीत में टेरी जोन्स ने ये बाद कही. जोन्स ने कहा, "निश्चित रूप से मैं या मेरा कोई साथी कुरान नहीं जलाएगा."

Reaktionen zu Terry Jones' Koran-Plänen

अफगानिस्तान से इंडोनेशिया तक विरोध प्रदर्शन

इससे पहले जोन्स के दोस्त के ए पॉल ने बताया, "पास्टर जोन्स गेन्सविले में अब नहीं हैं, वो न्यूयॉर्क आ रहे हैं. मैंने उनके लिए टिकट बुक किया और न्यूयॉर्क में रहने के लिए कमरा भी."

गुरुवार को जोन्स ने कहा कि उन्होंने ग्राउंड जीरो पर बनने वाले इस्लामिक कल्चर सेंटर को कहीं और ले जाने का भरोसा मिलने के बाद कुरान जलाने का इरादा छोड़ दिया है. जोन्स ने कहा कि वो न्यूयॉर्क जा रहे हैं और इस्लामिक कल्चर सेंटर बनाने की तैयारी करने वाले अब्दुल रऊफ से 9/11 को ही मिलेंगे.

उधर अब्दुल रऊफ और दूसरे लोगों का कहना है कि उन्होंने टेरी जोन्स के साथ ऐसा कोई करार नहीं किया और ना ही जोन्स के साथ मुलाकात की कोई तैयारी है. ये साफ नहीं हो पाया कि जोन्स के अब्दुल रऊफ और उनके सहयोगियों के साथ कोई बातचीत हुई है या नहीं.

टेरी जोन्स की कुरान जलाने के एलान ने दुनिया भर में हलचल मचा चुके हैं. अफगानिस्तान से लेकर इंडोनेशिया तक इसके विरोध में प्रदर्शन होने लगे. राष्ट्रपति बराक ओबामा और रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स ने जोन्स से इसे रोकने को कहा. राष्ट्रपति और रक्षा मंत्री ने यहां तक कह दिया कि इसके बाद दुनिया भर में अमरीकियों की जान खतरे में पड़ जाएगी. राष्ट्रपति ने ये भी कहा कि ये सभी धर्मों का सम्मान करने के अमरिकी सिद्धांत के भी खिलाफ है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links