कब्र के लिए भी पहले से बुकिंग | दुनिया | DW | 25.09.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कब्र के लिए भी पहले से बुकिंग

बस, ट्रेन और हवाईजहाज की टिकटों के अलावा प्लाट, मकान और फ्लैट की बुकिंग तो आम है, लेकिन अब लोग अपने पूरे परिवार के लिए कब्रों की भी अग्रिम बुकिंग करा रहे हैं.

सुनने में भले बेतुका लगे, लेकिन भारत के कई शहरों में अब लोग कब्रों की बुकिंग करा रहे हैं ताकि मौत के बाद उनको दो गज जमीन मिलने में कोई दिक्कत नहीं हो. देश में ठीकठाक जगह पर मौजूद कब्रिस्तानों में जगह की कमी को ध्यान में रखते हुए यह प्रवृत्ति तेज हो रही है.

चैन के लिए बुकिंग

12 सदस्यों वाला मोहम्मद अकरम का परिवार मुर्शिदाबाद में दो कमरों के पुश्तैनी मकान में गुजारा करता है. जमीन और फ्लैट की आसमान छूती कीमतों ने इस बड़े परिवार को इसी मकान में रहने को मजबूर कर दिया है, लेकिन अकरम चाहते हैं कि कम से कम मौत के बाद उनके परिजनों को जगह की तंगी नहीं झेलनी पड़े और वह साथ-साथ रह सकें. इसके लिए उन्होंने कुछ साल पहले एकमुश्त बारह क्रबों की बुकिंग कर ली थी. उनमें से अब तक चार का इस्तेमाल हुआ है. अकरम कहते हैं, "आखिर एक अजनबी के बगल में कौन दफन होना चाहेगा हम मौत के बाद भी साथ रहेंगे." अकरम के चेचेरे भाई मोहम्मद हफीज ने भी अपने पूरे परिवार के लिए 16 कब्रों की जगह बुक कर ली है. हफीज कहते हैं, "कब्रों की अग्रिम बुकिंग अब एक स्टेटस सिंबल भी बन गई है. पहले से बुकिंग की स्थिति में अपनों की मौत के बाद जगह तलाशने के लिए माथापच्ची नहीं करनी पड़ती."

कब्र के रेट

कब्रों की बुकिंग निजी कब्रिस्तानों में ही होती है. इसकी दर पांच हजार से शुरू होकर लाखों में हो सकती है. यह कई चीजों पर निर्भर है. मसलन कितने पहले बुकिंग की जाती है और उस कब्रिस्तान की लोकेशन कैसी है. एक निजी कब्रिस्तान के केयरटेकर रहे बादशाह खान बताते हैं, "हर निजी कब्रिस्तान की दर अलग-अलग है. मेन गेट के पास की जगह की दर आठ हजार रुपए है. किसी धार्मिक नेता की कब्र की बगल वाली जगह की कीमत एक लाख से ज्यादा हो सकती है." वह कहते हैं कि लोगों में यह मान्यता है कि किसी पवित्र आत्मा के बगल वाली कब्र में जगह मिलने पर आपको सीधे जन्नत मिल सकती है. वह परमात्मा से आपकी सिफारिश कर सकता है.

DW.COM

हिजड़ों के मामले में कब्र की कीमतें ज्यादा हैं. ऐसी एक कब्र के लिए दो गज जमीन की कीमत डेढ़ से दो लाख तक हो सकती है. क्रिश्चियन कब्रिस्तानों में यह दर और ज्यादा है. कोलकाता में ऐसे एक कब्रिस्तान की संचालन समिति के सदस्य जेम्स डिसूजा कहते हैं, "कब्रिस्तानों में जगह सिमटती जा रही है. इसलिए कीमतें ज्यादा हैं. हमने अब बुकिंग भी बंद कर दी है. यहां जगह ही नहीं बची है."

जगह की कमी

कब्र की बुकिंग होने पर वहां लगे पत्थर पर उसके मालिक का नाम लिख दिया जाता है और वह जगह आरक्षित हो जाती है. इसकी बाकायदा रसीद दी जाती है और उस जमीन के इस्तेमाल का मौका आने पर मृत्यु प्रमाणपत्र के साथ वह रसीद भी दिखानी पड़ती है. दिलचस्प बात यह है कि अब कब्रों की बुकिंग में भी धांधली व हेराफेरी के आरोप सामने आने लगे हैं. कई जगह एक ही प्लाट को कई लोगों को बेचने के मामले भी सामने आए हैं. कब्रिस्तानों में जगह की बढ़ती कमी की वजह से ज्यादातर मामलों में वहां अब क्रंक्रीट की कब्र बनाने की भी अनुमति नहीं दी जाती. कई मामलों में तो ऐसी कब्रों को तोड़ कर उस जगह का दोबारा इस्तेमाल किया जा रहा है. एक कब्रिस्तान के केयरटेकर मंसूर अली कहते हैं, "बढ़ती आबादी की वजह से कब्र के लिए जगह की मांग लगातार बढ़ती जा रही है. नए कब्रिस्तान नहीं बने तो कुछ वर्षों में तमाम जगह भर जाएगी और किसी को शांति से दो गज जमीन भी नहीं मिलेगी."

रिपोर्टः प्रभाकर, कोलकाता

संपादनः निखिल रंजन

संबंधित सामग्री