1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

कप्तान धोनी फिलहाल नहीं हटेंगेः बीसीसीआई

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के प्रदर्शन पर गहरी नाखुशी जताई है लेकिन कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी को अभी कप्तान के पद से नहीं हटाया जाएगा. वेस्ट इंडीज में हार कर टीम इंडिया भारत लौट आई है.

default

फिलहाल नहीं हटेंगे धोनी

लगातार दो वर्ल्ड कप में सुपर 8 के सारे मैच हार जाने से बीसीसीआई नाराज है. बोर्ड का कहना है, "जाहिर तौर पर हम टीम के प्रदर्शन से खुश नहीं हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि हम धोनी को ट्वेन्टी 20 की कप्तानी से हटाने पर विचार कर रहे हैं."

टी 20 वर्ल्ड कप के दौरान ऑस्ट्रेलिया, वेस्ट इंडीज और श्रीलंका से हार कर टीम इंडिया भारत लौट आई है. लौटने के बाद खिलाड़ियों ने मीडिया से परहेज किया और चुपचाप अपनी गाड़ियों में सवार होकर निकल गए. कप्तान धोनी एयरपोर्ट के पीछे के रास्ते से निकल गए. हालांकि टीम के मैनेजर रनजीब बिस्वाल ने मीडिया से बात की और मीडिया पर आरोप लगाया कि कई मनगढ़ंत खबरें चला दी गईं.

रिपोर्टें थीं कि टीम इंडिया के कोच गैरी कर्स्टन खिलाड़ियों के फिटनेस से नाराज थे. हालांकि बिस्वाल इस बात से इनकार करते हैं. कर्स्टन टीम के साथ भारत नहीं लौटे हैं, बल्कि लंदन में रुक गए हैं और जोहानिसबर्ग में टीम के साथ शामिल हो जाएंगे, जहां भारत को जिम्बाब्वे के साथ क्रिकेट खेलना है.

Neugewählter Vorstand der indischen Cricket Kontrollstelle

बीसीसीआई की बात

वर्ल्ड कप के दौरान कुछ बेहद विवादित फैसलों की वजह से भी धोनी पर शिकंजा कसा है और बोर्ड के एक सूत्र का कहना है कि उन्हें जवाबदेह बनाने के लिए अब टूर्नामेंट दर टूर्नामेंट उन्हें कप्तानी दी जाएगी. धोनी ने आईपीएल बाद की पार्टियों को हार का जिम्मेदार बताया था, जिससे कई पूर्व खिलाड़ी सहमत नहीं हैं.

समझा जाता है कि उन्हें मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का समर्थन हासिल है और यह बात उनके फायदे में गई है. सचिन ने गुरुवार को ही कहा था कि उनके लिए टीम इंडिया अभी भी नंबर वन है और धोनी की टीम ने पूरी मेहनत की है. लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर भी धोनी के पक्ष में हैं और कहते हैं कि भारतीय टीम के नेतृत्व के लिए वह सबसे काबिल क्रिकेटर हैं.

धोनी की कप्तानी में भारत ने टेस्ट मैचों में पहला नंबर हासिल किया है, जबकि वनडे में दूसरे नंबर पर है. हालांकि ट्वेन्टी 20 में टीम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है. तीन साल पहले खेले गए वर्ल्ड कप को भारत ने जरूर जीता था लेकिन इसके बाद के दोनों वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की स्थिति बेहद खराब रही.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः उ भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री