1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कनाडा ने वेश्यावृत्ति पर रोक हटाया

कनाडा की सर्वोच्च अदालत ने वेश्यावृत्ति से जुड़े लोगों को भारी राहत देते हुए इससे जुड़ी गतिविधियों पर सभी प्रतिबंधों को हटा दिया है.

कनाडा की सर्वोच्च अदालत ने वेश्यावृत्ति पर लगे सभी मौजूदा प्रतिबंधों को हटा दिया है. इनमें वेश्यालयों पर लगी रोक और सड़क पर वेश्याओं का खड़ा होना शामिल है. कोर्ट का कहना है कि इससे संबंधित कानून असंवैधानिक थे, क्योंकि वे वेश्याओं की सुरक्षा का उल्लंघन करते थे. यह ऐतिहासिक फैसला कोर्ट की बेंच ने 9-0 से किया. इस फैसले को लागू करने के लिए संसद को एक साल का वक्त दिया गया है.

सुप्रीम कोर्ट ने संसद को एक साल का वक्त देते हुए कहा है कि इस दौरान वह किसी और तरह की रोक लगाने या वेश्यावृत्ति के नियमन पर विचार कर सकती है. कनाडा में वेश्यावृत्ति तकनीकी रूप से कानूनी है, लेकिन इससे संबंधित गतिविधियां गैरकानूनी हैं. वेश्यावृत्ति के जरिए कमाए पैसे से किसी और को लाभ मिलना भी गैरकानूनी है. कोर्ट ने पाया कि प्रावधान या तो बहुत ज्यादा व्यापक है या फिर निहायत असंगत हैं.

कनाडा सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बेवरली मैकलैचलिन ने कहा, "वेश्यावृत्ति की जोखिम भरी आर्थिक गतिविधियों में शामिल होने के अलावा बहुत सी वेश्याओं के पास कोई सार्थक विकल्प नहीं है.'' मुख्य न्यायाधीश ना कहा कि कानून में इस तरह की वैध गतिविधि को और अधिक खतरनाक नहीं बनाना चाहिए.

दो पूर्व और एक मौजूदा वेश्या ने कनाडा के कानून को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. उनकी दलील थी कि अगर वेश्या चाहे तो वेश्यालयों में बॉडीगार्ड की मौजूदगी में अपना धंधा कर सकती हैं. मुख्य न्यायाधीश ने सरकार के उस तर्क को खारिज कर दिया जिसमें उसने कहा कि कानून नहीं, खुद वेश्यावृत्ति वेश्याओं को जोखिम में डालती है.

वेश्याओं की सुरक्षा का मामला साल 2007 उस वक्त बड़ा मुद्दा बन गया था जब सीरियल किलर रॉबर्ट पिक्टन पर अदालती कार्रवाई शुरू हुई. पिक्टन सड़क पर खड़ी वेश्याओं को अपना शिकार बनाता था. यूरोप के कई देशों और लातिन अमेरिका में वेश्यावृत्ति को कानूनी मंजूरी है.

एए/एमजे (एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री