1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

कटौती प्रस्ताव पर सरकार की नैया पार

कटौती प्रस्ताव पर केंद्र सरकार की नैया पार हो गई है. हालांकि इस बार ज़रूरत से कम वोट मिलना सरकार के लिए एक अलार्म है. सरकार ने 162 के मुकाबले 246 से प्रस्ताव जीता पूर्ण बहुमत नहीं मिला सरकार को.

default

दोनों यादव संसद से बाहर रहे वहीं बीएसपी की नेता मायावती ने सरकार का साथ दिया. लोकसभा में दिन की शुरुआत विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने की और उन्होंने फोन टैपिंग के मुद्दे पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की आलोचना की और कहा कि उन्होंने संसदीय जांच दल के बारे में संसद में पूछे गए सवाल का बाहर जवाब दिया जो कि संसद की अवमानना है. बीजेपी का कहना था कि इसलिए वे प्रधानमंत्री के ख़िलाफ़ अवमानना का नोटिस जारी करेंगे.

संसद में कटौती प्रस्ताव पर भी संसद में खूब गहमा गहमी रही. बीएसपी नेता मायावती की पार्टी ने सरकार का साथ दिया. उनका कहना था कि वे सरकार की आर्थिक नीतियों से खुश नहीं है लेकिन सांप्रदायिक ताकतें अगर सत्ता में आएंगी तो देश के लिए और देश के आम लोगों के लिए ये अच्छा नहीं होगा और इसलिए हम सरकार का साथ दे रहे हैं. इसका सीबीआई या फिर किसी और बात से कोई लेना देना नहीं है.

बीजेपी का कहना है कि मायावती सरकार का साथ सिर्फ इसलिए दे रहीं हैं क्योंकि उन पर सीबीआई कई मामलों में जांच कर रही है.

रिपोर्टः नोरिस प्रीतम, नई दिल्ली

संपादनः आभा मोंढे

संबंधित सामग्री