1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कंप्यूटर की गड़बडी से परमाणु मिसाइल ऑफलाइन

कंप्यूटर की एक मामूली गड़बड़ी के कारण अमेरिका की 50 अंतरमहाद्वीपीय परमाणु मिसाइल 45 मिनट के लिए ऑफलाइन हो गईं. अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी है. कंप्यूटर के हार्डवेयर में गड़बड़ी हुई.

default

अमेरिका में एयरफोर्स की ग्लोबल स्ट्राइक कमांड के पास 450 अंतरमहाद्वीपीय परमाणु मिसाइलें हैं जिन्हें उत्तरी डकोटा, मोन्टाना और व्योमिंग एयरबेस पर तैनात किया गया है. ये मिसाइलें दूसरे महाद्वीपों तक जाकर हमला करने में भी सक्षम हैं. इनमें से व्योमिंग के एफ ई वॉरेन एयरबेस पर तैनात 50 मिसाइलों का संपर्क एयरफोर्स से टूट गया. अमेरिकी रक्षा विभाग के अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि पूरे 45 मिनट तक वायु सेना के अधिकारी दोबारा संपर्क करने की कोशिश में जुटे रहे. यह घटना शनिवार को हुई.

Amerikanische Atomwaffe ICBM

मंगलवार को जांच के बाद पता चला कि कंप्यूटर हार्डवेयर में आई गड़बड़ी के कारण ऐसा हुआ. इसके बाद फौरन कैमरे के जरिए और अधिकारियों की मदद से सभी उपकरणों की जांच की गई. जांच के बाद अधिकारियों का कहना है कि सभी उपकरण ठीक से काम कर रहे हैं और अब उस कंप्यूटर हार्डवेयर की जांच की जा रही है जिसमें गड़बड़ी आई.

वायु सेना के अधिकारी खासतौर पर इस हिस्से की जांच कर रहे हैं क्योंकि पता चला है कि 10 साल पहले एक दूसरे एयरबेस पर भी इसी तरह की गड़बड़ी सामने आई थी. हादसे के दौरान इसी एयरबेस पर मौजूद 50 मिसाइलों के दूसरे स्क्वॉयड पर कोई असर नहीं हुआ. ना ही मोन्टाना और उत्तरी डकोटा में तैनात 300 दूसरी मिसाइलों पर. अधिकारियों का यह भी कहना है कि इसके पीछे किसी इंसान का हाथ होने के संकेत नहीं मिले हैं.

राष्ट्रपति ओबामा को इस घटना के बारे में मंगलवार की सुबह जानकारी दी गई. इससे पहले अमेरिकी सेना प्रमुख एडमिरल माइक मुलेन और रक्षा मंत्री रॉबर्ट गेट्स को भी इस घटना के बारे में बताया गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links