1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

और फैला आईपीएल, अब होंगे 74 मैच

अगले साल होने वाले आईपीएल टूर्नामेंट में कई बदलाव किए गए हैं. रविवार को आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की बैठक हुई जिसमें चौथे आईपीएल टूर्नामेंट के दौरान कुल 74 मैच कराने की बात हुई.

default

आईपीएल में अब ज्यादा मैच

आईपीएल के अंतरिम चेयरमैन चिरायु अमीन ने कहा, "कुल मिलाकर 74 मैच होंगे." वहीं आईपीएल से जुड़े एक सूत्र ने बताया है कि हर टीम के हिस्से कम से कम सात मैच आएंगे. इस बात के भी संकेत हैं कि शुरुआती दौर में टीमों को दो हिस्सों में बांटा जाएगा.

पिछले सीजन तक टूर्नामेंट में आठ टीमें थीं जिन्होंने लीग चरण में 56 मैच खेले. इनमें अपने और दूसरे मैदानों पर खेले जाने वाले मैच शामिल हैं. इसके बाद दो सेमीफाइल, एक मैच तीसरे-चौथे स्थान के लिए और फिर फाइनल हुआ. इस तरह कुल मैचों की संख्या 60 रही.

अब आईपीएल में दो और टीमें शामिल होने जा रही हैं जिसमें सहारा वॉरियर ऑफ पुणे और एक कोच्चि की टीम होगी जिसका नाम अभी तय नहीं किया गया है. अब तक के फॉर्मेट के हिसाब से देखें तो 94 मैच बनते हैं लेकिन काउंसिल के सदस्य इसे सही नहीं मानते.

रविवार को लिए गए अन्य अहम फैसलों में अगले सीजन के लिए मौजूदा टीमों के खिलाड़ियों को बरकरार रखने और खिलाड़ियों की नई बोली की तारीख तय करना शामिल है. गवर्निंग काउंसिल के मुताबिक मूल आठ फ्रैंचाइजी अपने चार खिलाड़ियों को बरकरार रख सकती हैं जिनमें तीन भारतीय होंगे. खिलाड़ियों की नई बोली नवंबर के दूसरे हफ्ते में लगाई जाएगी.

अमीन बताया कि हर फ्रैंचाइजी बोली के दौरान 90 लाख डॉलर से ज्यादा खर्च नहीं कर सकती, जबकि खिलाड़ियों को बरकरार रखे जाने पर इस रकम को कम किया जा सकता है. वह बताते हैं, "अगर टीम अपने चारों खिलाड़ियों को रखना चाहती है तो बोली के दौरान उसके हाथ में इस राशि के आधे ही पैसे होंगे." फरवरी 2008 की बोली के दौरान हर फ्रैंचाइजी को 50 लाख डॉलर खर्च करने की अनुमति थी. आईपीएल के चौथे सीजन के कुछ और भी छोटे मोटे बदलाव किए गए हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links