1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

ओबामा से 1984 के दंगों के मामले में गुहार

1984 के सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों के लिए इंसाफ की मांग कर रहे एक सिख संगठन ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात की है. ओबामा नवंबर में भारत यात्रा पर जाने वाले हैं.

default

सिख फॉर जस्टिस नाम के न्यूयॉर्क के संगठन ने फिलाडेल्फिया में अमेरिकी राष्ट्रपति से मुलाकात की. इस संगठन ने दंगों में भूमिका होने के लिए भारत के परिवहन मंत्री कमलनाथ के खिलाफ न्यूयॉर्क में मामला भी दर्ज कराया है. सिख फॉर जस्टिस के कानूनी सलाहकार गुरपतवंत सिंह पनुन ने बताया, "राष्ट्रपति से छोटी सी मुलाकात हुई. उन्होंने हमारी बात को संयम के साथ सुना और हां में गर्दन भी हिलाई." पनुन ने बताया कि यह अनौपचारिक मुलाकात उस वक्त हुई जब ओबामा डेमोक्रेट सांसद जो सेस्टैक के चंदा जमा अभियान के लिए फिलाडेल्फिया पहुंचे. पनुन ने यह नहीं बताया कि ओबामा ने उनकी बातों पर क्या कहा.

Studenten der All India Sikh Students Feeration und Opfer der Unruhen von 1984

दंगा पीड़ितों को 25 साल बाद भी नहीं मिल न्याय

सिख फॉर जस्टिस के संयोजक बख्शीश सिंह संधु ने बताया कि ओबामा को 1984 की घटनाओं की विस्तार से जानकारी दी गई और आग्रह किया गया कि जब वे नवंबर में भारत जाएं तो सरकार के सामने इस मामले को उठाएं.

पनुन ने कहा, "सिखों के दुखों को ओबामा से बेहतर दुनिया का कोई और नेता नहीं समझ सकता क्योंकि वह खुद ऐसे अल्पसंख्यक समुदाय से आते हैं जिसने अमेरिका में भेदभाव और अन्याय झेला है." पनुन ने कहा कि उनका संगठन ओबामा की भारत यात्रा तक अमेरिकी प्रशासन को इस मुद्दे की याद दिलाता रहेगा. जनवरी 2009 में पद संभालने वाले राष्ट्रपति बराक ओबामा पहली सरकारी यात्रा पर नवंबर में भारत जा रहे हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एन रंजन

WWW-Links