1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ओबामा सबसे ताकतवर, सोनिया नंबर 12

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा लगातार दूसरे साल दुनिया के सबसे ताकतवर आदमी बने हुए हैं. उन के बाद जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल हैं. फोर्ब्स के ताकतवरों में शीर्ष के 20 लोगों के बीच सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह भी हैं.

फोर्ब्स सूची में शामिल नामों के बारे में कहता है कि यह वो लोग हैं जो, "वास्तव में दुनिया के 7.1 अरब लोगों की जिंदगी को बनाते और चलाते हैं." ओबामा को दुनिया का सबसे ताकवर इंसान मानने में कहीं कोई दिक्कत नहीं हुई क्योंकि राष्ट्रपति चुनाव में दोबारा जीत कर उन्होंने अपना लोहा मनवा दिया. अब उनके पास अपने एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए चार साल और हैं. यह और बात है कि चुनौतियां भी कम नहीं क्योंकि एक तरफ बजट की समस्या है तो दूसरी तरफ देश में बढ़ती बेरोजगारी की और ऊपर से मध्यपूर्व का संकट मुंह चिढ़ा रहा है.

हालांकि फोर्ब्स ने लिखा, "ओबामा दुनिया की सबसे ताकवर सेना के प्रमुख और आर्थिक, सांस्कृतिक सुपरपावर देश के मुखिया हैं और सही अर्थों में आजाद दुनिया के नेता हैं."

सबसे ताकवर लोगों की सूची में दूसरे नंबर पर जर्मनी की चांसलर अंगेला मैर्केल हैं जो दुनिया की सबसे ताकवर महिला हैं. पिछले साल उन्हें चौथे नंबर पर रखा गया था लेकिन इस साल उन्हें सीधे दूसरे नंबर पर जगह मिल गई हैं. फोर्ब्स ने मैर्केल को 27 सदस्यों वाले यूरोपीय संघ की रीढ़ बताया है जो अपने कंधों पर यूरो का भविष्य लेकर चल रही हैं.

भारत के सत्ताधारी गठबंधन यूपीए की चेयरमैन सोनिया गांधी की ताकत पिछले साल की तुलना में थोड़ी कम हुई है. फोर्ब्स ने उन्हें इस साल 12वें नंबर पर रखा है हालांकि यहां पर भी वो फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद और चीन के उप प्रधानमंत्री ली केकियांग से आगे हैं. फोर्ब्स ने सोनिया गांधी के बारे में लिखा है कि 65 साल की सोनिया गांधी के हाथ में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ा आबादी और 10वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश के सत्ताधारी पार्टी की कमान है. फोर्ब्स ने यह भी लिखा है,"बेटा राहुल देश की सबसे लोकप्रिय पार्टी की राजनीतिक विरासत की कमान संभालने की ओर बढ़ रहे हैं."

फोर्ब्स ने दुनिया के ताकवर लोगों के बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को 19वें नंबर पर रखा है. ऑक्सफोर्ड और कैंब्रिज विश्वविद्यालयों में पढ़ चुके अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह भारत में आर्थिक सुधारों के रचनाकार रहे हैं. मनमोहन सिंह को पिछले साल भी यही जगह मिली थी.

हालांकि उनके बारे में फोर्ब्स ने यह भी लिखा है, "सिंह की खामोश बौद्धिकता को अब बड़ी तेजी से कमजोरी और नरमी के रूप में देखा जाने लगा है."

सिर्फ राजनेता ही नहीं कारोबारी जगत के लोग भी दुनिया के ताकवर लोगों में हैं. इनमें बिल गेट्स से लेकर रिलायंस के मुखिया मुकेश अंबानी और आर्सेलर मित्तल के प्रमुख लक्ष्मी मित्तल भी हैं.

दुनिया के सबसे महंगे निजी घर में रहने वाले मुकेश अंबानी 37वें सबसे ताकवर इंसान हैं जो भारत के सबसे अमीर कारोबारी समूह का नेतृत्व करते हैं. हालांकि फोर्ब्स ने गोल्डमैन जाक्स के बदनाम निदेशक रजत गुप्ता की तरफदारी करने को मुकेश अंबानी के लिए कमजोर कड़ी कहा है. आर्सेलर मित्तल के प्रमुख लक्ष्मी मित्तल फोर्ब्स की सूची में 47वें नंबर पर हैं.

ताकवर लोगों में रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन तीसरे नंबर पर हैं जबकि माइक्रोसॉफ्ट प्रमुख बिल गेट्स चौथे नंबर पर. चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव जी जिनपिंग (9), गूगल के सह संस्थापक लैरी पेज और सर्जे ब्रिन (20), ईरान के सर्वोच्च नेता अली खमेनेई (21), संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून (30), उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन (44) और पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन (50) को भी इस सूची में जगह मिली है.

फोर्ब्स ने अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को ताकवर लोगों में शामिल नहीं किया है. पिछले साल वह इन लोगों के बीच 16वें नंबर पर थीं. पाकिस्तान के सेना प्रमुख अशफाक परवेज कियानी को इन लोगों के बीच 28वें नंबर पर रखा गया है.

एनआर/एजेए(पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री