1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ओबामा पुलिस के साथ हैं या उसके खिलाफ?

पुलिस की गोली से एफ्रो-अमेरिकन लोगों के मारे जाने पर राष्ट्रपति बराक ओबामा ने "बैड पोलिसिंग" की आलोचना की है. डैलस की घटना के बाद भी उन्होंने यही किया लेकिन 5 मृतक पुलिस अफसरों की शोक सभा में भी हिस्सा लिया.

अमेरिका में पीढ़ियों से बसे एफ्रो-अमेरिकन लोग सदियों से पुलिस के डंडे, गरजते पुलिसिया कुत्ते और बंदूकें झेलते की बात कहते रहे हैं. राष्ट्रपति ओबामा के शब्द उनके जख्मों पर कुछ मरहम सा जरूर लगाते हैं, लेकिन हिंसक घटनाएं रुकी नहीं हैं. डैलस की घटना के बाद अमेरिकी पुलिस पर भी हमले हुए, और उनकी भी जानें गईं हैं.

कईयों का मानना है कि ओबामा का बयान उन हजारों कर्तव्यनिष्ठ पुलिस वालों का अपमान है जो अपनी जान जोखिम में डाल कर भी अपनी ड्यूटी करते हैं. डैलस की पूरी सच्चाई के सामने आने से पहले ही आया ये वक्तव्य जल्दबाजी है.

ओहायो के हैमिल्टन टाउनशिप के पुलिस प्रमुख स्कॉट ह्यूज ने कहा, "उन्होंने ऐसा कहा होता तो अच्छा होता कि 'तुम जो कर रहे हो मैं उसके साथ हूं'." उन्हें शिकायत है कि पुलिस का समर्थन ना कर के राष्ट्रपति ने बहुत एकतरफा बात की है.

राष्ट्रपति ओबामा स्पेन का दौरा छोड़कर मंगलवार को डैलस गए और एक शोक सभा के दौरान स्नाइपरों द्वारा जान से मारे गए पांच पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी. वहां बोलते हुए उन्होंने कानून का पालन करवाने वालों का पूरा समर्थन करते हुए मृतक पुलिसकर्मियों को हीरो बताया. ओबामा ने सभी अमेरिकियों से अपील की कि वे समुदायों के बीच की दरार को पाटने के रास्ते खोजें.

इस अवसर पर ओबामा के बयान को कई लोग संशय से भी देख रहे हैं. उनका मानना है कि अपने पहले कार्यकाल से ही ओबामा ने कुछ ऐसे बयान दिए जिनसे लोगों में पुलिस के प्रति घृणा बढ़ी. व्हाइट हाउस में ओबामा के कदम रखते ही पुलिस के एक धड़े को लगने लगा था कि उन्हें अब पहले जैसा समर्थन और प्रशंसा नहीं मिलेगी, जैसा ओबामा के पहले के राष्ट्रपतियों से मिलता था.

राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने 1994 के क्राइम बिल में हजारों पुलिसकर्मियों को नियुक्त किए जाने का कदम उठाया. उसके पहले राष्ट्रपति बुश ने भी पुलिस की मेमोरियल सर्विस में हिस्सा लिया और वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के मलबे के पास खड़े होकर एक शक्तिशाली संदेश दिया था.

ओबामा के सत्ता में आने के सात महीने बाद ही अश्वेत फिल्मकार, इतिहासकार और हार्वर्ड प्रोफेसर हेनरी लुई गेट्स को गिरफ्तार किए जाने पर काफी बवाल हुआ था. एक रात देर से घर लौटने पर दरवाजा जाम पाकर, गेट्स ने बलपूर्वक उसे खोलने की कोशिश की. पुलिस ने उन्हें अपने ही घर को तोड़कर घुसने की कोशिश के जुर्म में गिरफ्तार किया था, जिसे ओबामा ने पुलिस का "बेवकूफाना" कदम बताया.

ओबामा ने अपने पूरे कार्यकाल में कई बार पुलिस और दूसरी लॉ इनफोर्समेंट एजेंसियों पर नस्ली आधार पर कार्रवाई करने की बात कही है. इससे पुलिस में उनके समर्थन को लेकर अविश्वास बना रहा.

बुधवार को ओबामा व्हाइट हाउस में पुलिस अधिकारियों के साथ मेयर, अकादमिक विशेषज्ञों और नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं से भी बातचीत कर रहे हैं. उनके सामने कानून और व्यवस्था बनाए रखने वाली एजेंसियों को समर्थन देने के अलावा कुछ समुदायों में भेदभाव की चिंताओं के बीच संतुलन बनाने की चुनौती है. कई ब्लैक एक्टिविस्ट्स को ओबामा का मेमोरियस सर्विस में जाना नागवार गुजरा है. ओबामा के बेटन रूज या मिनियापोलिस ना जाकर डैलस जाने के निर्णय को वे "मुंह पर तमाचा" मानते हैं.

DW.COM

संबंधित सामग्री