1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ओबामा को पछाड़ हू बने सबसे ताकतवर

चीन के राष्ट्रपति हू जिनताओ अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को पीछे छोड़ दुनिया के सबसे ताकतवर व्यक्ति बन गए हैं. फोर्ब्स की तरफ से तैयार 68 ताकतवर लोगों की सूची में यह बात सामने आई है. सूची में सोनिया और मनमोहन भी शामिल.

default

हू जिनताओ

2010 के लिए फोर्ब्स की इस सूची में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को 9वें और भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के 18वें स्थान पर रखा गया है. भारतीय उद्योगपति मुकेश अंबानी, रतन टाटा और आर्सेलर मित्तल के प्रमुख स्टील किंग लक्ष्मी निवास मित्तल ने भी इस सूची में जगह बनाई है.

फोर्ब्स ने धरती पर मौजूद 6.8 अरब की आबादी में ऐसे 68 लोगों को चुना है जो मायने रखते हैं. इसमें सरकार प्रमुख, राजनेता, धार्मिक नेता और उद्योगपति शामिल हैं क्योंकि वे ही विभिन्न क्षेत्रों में दुनिया का रुख तय करते हैं.

67 वर्षीय चीनी राष्ट्रपति को फोर्ब्स की इस सूची में पहले स्थान पर रखा गया है, जबकि दुनिया की इकलौती महाशक्ति अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा को दूसरे पायदान पर जगह दी गई है. जिनताओ दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाले देश चीन के नेता हैं और 1.3 अरब लोगों पर उनका लगभग तानाशाही शासन चलता है.

फोर्ब्स का कहना है कि पश्चिमी देशों के राष्ट्रपतियों से विपरीत हू नदियों का रुख मोड़ सकते हैं, शहर बसा सकते हैं, विद्रोहियों को जेल में डाल सकते हैं और बिना किसी परेशानी के इंटरनेट को सेंसर करा सकते हैं.

बताया जाता है कि चीन अगले 25 साल में अमेरिका को पीछे छोड़ दुनिया की नंबर एक अर्थव्यवस्था बनने की राह पर है. हू ने शी जिनपिंग को अपना उत्तराधिकारी चुना है जो 2012 में चीनी राष्ट्रपति का पद संभालेंगे.

उधर 49 वर्षीय पहले अफ्रीकी-अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के बारे में फोर्ब्स का कहना है कि वह इस बात से संतोष कर सकते हैं कि अब भी वही दुनिया की सबसे बड़ी और मारक क्षमता वाली सेना के कमांडर इन चीफ और दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश अमेरिका के नेता हैं जिसे मुक्त विश्व का अगुवा समझा जाता है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एमजी

DW.COM

WWW-Links