1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ऑस्ट्रेलिया में एक और पाक क्रिकेटर

काबिलियत हो तो हर राह आसान हो जाती है. यह अनुभव हुआ है पाकिस्तान के फवाद अहमद को, जो चाहते थे ऑस्ट्रेलिया में शरण. लेकिन क्रिकेट हुनर के कारण उन्हें प्रधानमंत्री एकादश में शामिल किया गया है.

पिछले साल नवंबर में ही उन्हें ऑस्ट्रेलिया का स्थायी वीजा मिला है और अब उन्हें वेस्ट इंडीज के खिलाफ कैनबेरा में होने वाले मैच के लिए प्रधानमंत्री एकादश में शामिल कर लिया गया है. अहमद को 29 जनवरी को होने वाले इस मैच के लिए पाकिस्तान में जन्मे उस्मान ख्वाजा और भारत में जन्मे फास्ट बोलर गुरिंदर संधु के साथ टीम में शामिल किया गया है.

राष्ट्रीय चयन समिति के अध्यक्ष जॉन इंवेरेरिटी ने इन खिलाड़ियों के चयन को ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट की सांस्कृतिक विविधता का प्रतीक बताया, "फवाद टी20 बिग बैश लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स के लिए और ग्रेड क्लब मेलबर्न यूनिवर्सिटी के लिए खेल रहा है, और हम उसके खेल से उत्साहित हैं." इंवेरेरिटी ने कहा गुरिंदर संधु ने भी पिछले साल अंडर 19 वर्ल्ड कप के बाद सिडनी थंडर के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है.

प्रधानमंत्री एकादश टीम का नेतृत्व हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से रिटायर हुए रिकी पोंटिंग करेंगे. ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट टीम के पूर्व विकेटकीपर ब्रैड हैडिन टीम के उप कप्तान होंगे.

33 साल के लेग स्पिनर फवाद अहमद अफगानिस्तान की सीमा पर अपना गांव छोड़कर छोटी अवधि के स्टे वीजा पर क्रिकेट खेलने 2010 में ऑस्ट्रेलिया पहुंचे. उसके बाद उन्होंने टी20 बिग बैश लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स की टीम में अपना सिक्का जमा लिया.

अहमद ने पहले कहा था कि क्रिकेट खेलने के कारण मुस्लिम कट्टरपंथी उन्हें निशाना बना रहे थे, जिनका मानना है कि खेल पश्चिमी मूल्यों को बढ़ावा देता है. उन्हें हत्या की धमकियां भी मिली थीं.

एमजे/एजेए (एएफपी)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री