1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ऑस्ट्रेलिया पर पाकिस्तान की ऐतिहासिक जीत

15 साल बाद पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट मैच में हराया. लीड्स टेस्ट में पाकिस्तान की खूंखार गेंदबाजी ने कंगारूओं के पसीने छुड़ाए. चौथे दिन में ही ऑस्ट्रेलिया का काम तमाम हो गया. उल्टा पड़ा पोंटिंग का फैसला.

default

आसिफ, आमेर की घातक जोड़ी

चौथे दिन पाकिस्तान को जीत के लिए सिर्फ 40 रन की जरूरत थी और हाथ में आठ विकेट थे. लेकिन हमेशा की तरह पाकिस्तानी बल्लेबाजों ने आसान से लक्ष्य को रोमांचक बना डाला. खेल शुरू होते ही धड़ाधड़ाते हुए चार विकेट गिरे. शुक्रवार तक तीन विकेट खोकर 137 बनाने वाली टीम 179 तक सात विकेट खो बैठी. पाकिस्तान को जीत के लिए 180 रन बनाने थे.

ऑस्ट्रेलिया ने वापसी की जी तोड़ कोशिश की लेकिन बहुत छोटा लक्ष्य होने की वजह से जीत नामुमकिन ही थी. 1995 के बाद पहली बार ऑस्ट्रेलिया पाकिस्तान से पिटा है. हार के लिए कप्तान रिकी पोंटिंग के फैसले की आलोचना हो रही है. लीड्स का विकेट तेज गेंदबाजों के अनुकूल था. ऐसे में पोंटिंग का पहले बल्लेबाजी करने का फैसला गलत साबित हुआ. ऑस्ट्रेलिया की पारी पहले ही दिन 88 रन पर ढेर हो गई. कई दशकों में पहला मौका है जब कंगारू टीम ने टेस्ट मैच में इतना खराब प्रदर्शन किया है.

पाकिस्तान की जीत का सेहरा पूरी तरह तेज गेंदबाजों को जाता है. मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमेर ने पोंटिंग ब्रिग्रेड की नाक में दम कर दिया. पहली पारी में दोनों को तीन-तीन विकेट मिले. दो बल्लेबाज उमर गुल का शिकार बने. दूसरी पारी में आमेर चार और आसिफ दो विकेट ले उड़े.

Ricky Ponting Mannschaftskapitän Cricket Australien

करारी हार

ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 88 रन पर ढेर करने के साथ ही पाकिस्तान ने जीत का दरवाजा खोल दिया, जिसे बाद में उसके बल्लेबाजों ने आसान कर दिखाया. हालांकि शेन वाटसन ने छह विकेट झटकर पाकिस्तान को 258 रन पर रोक दिया. पहली पारी में 170 रन से पिछड़ने के बाद रिकी पॉन्टिंग की टीम ने दूसरी पारी में अच्छी बल्लेबाजी की और 349 रन बनाए. इस दौरान माइकल क्लार्क और स्टीवन स्मिथ ने 77-77 रन की अच्छी पारियां खेली. पॉन्टिंग ने भी 66 रन बनाए. लेकिन पहली पारी के शर्मनाक प्रदर्शन की वजह से दूसरी पारी का अच्छा खेल भी कुछ नहीं कर पाया और ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ 179 रन की बढ़त ही मिल पाई.

वैसे पाकिस्तान ने इस बार सिडनी टेस्ट की गलती नहीं दोहराई. इस साल जनवरी में ही सिडनी टेस्ट में पाकिस्तान 176 रन का पीछा कर रहा था, लेकिन टीम 136 पर ढेर हो गई. लीड्स में ऐसा नहीं हुआ. वाटसन और मोहम्मद आमेर को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

पाकिस्तानी टीम के लिए यह जीत किसी बड़ी खिताबी जीत से कम नहीं है. पहला टेस्ट हारने के बाद शाहिद अफरीदी ने कप्तानी से इस्तीफा दे दिया. इसके बाद टीम की कमान सलमान बट को सौंपी गई और उन्हें पहली और शानदार जीत हासिल हुई. पाकिस्तान को अब इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट खेलने हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार