1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ऑस्ट्रेलिया की वर्ल्ड कप टीम घोषित

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने वर्ल्ड कप के लिए 15 सदस्यीय टीम का एलान कर दिया है. 1999, 2003 और 2007 का वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम की कमान रिकी पोंटिंग के हाथ में है. ब्रेट ली और शॉन टेट की वापसी हुई है. हसी की चोट से टीम चिंतित.

default

वर्ल्ड कप भारतीय उपमहाद्वीप में होने के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई टीम ने तेज गेंदबाजों पर खूब भरोसा जताया है. 15 सदस्यीय टीम में चार तूफानी गेंदबाज रखे गए हैं. इनके अलावा दो गेंदबाजी करने वाले तीन ऑलराउंडर भी टीम में शामिल हैं. टीम में सिर्फ एक स्पिनर को जगह दी गई है. हालांकि डेविड हसी और स्टीवन स्मिथ भी पार्ट टाइम स्पिन गेंदबाजी कर सकते हैं.

टीम इस प्रकार है: रिकी पोंटिंग (कप्तान), शेन वाटसनस, ब्रैड हैडिन, माइकल क्लार्क, माइकल हसी, डेविड हसी, कैमरन व्हाइट, टिम पैने, स्वीवन स्मिथ, जॉन हैस्टिंग, मिचेल जॉनसन, नाथन हॉरित्ज, ब्रेट ली, शॉन टेट, डग बोलिंगर.

छठे नबंर के जुझारु बल्लेबाज माइकल हसी को टीम में हैं लेकिन वह वर्ल्ड कप खेल सकेंगे या नहीं, यह तय नहीं है. इंग्लैंड के खिलाफ वनडे खेलते हुए हसी की मांसपेशियों में गंभीर चोट आई है. हसी अब इंग्लैंड के खिलाफ बाकी बचे तीन मैच नहीं खेल सकेंगे. उन्हें सर्जरी करानी है. यह तय नहीं है कि सर्जरी के बाद वह वर्ल्ड कप खेलने के लिए फिट रह सकेंगे या नहीं.

Australien Cricket Meisterschaft Neuseeland

अहम कड़ी होंगे वाटसन

लगातार तीन वर्ल्ड कप जीतने वाली और वनडे की नंबर एक टीम ऑस्ट्रेलिया को उम्मीद है कि वर्ल्ड कप में उसका प्रदर्शन अच्छा रहेगा. 2007 में वेस्ट इंडीज में वर्ल्ड कप जीतने वाले सात खिलाड़ी मिशन 2011 के लिए भी टीम में हैं. लेकिन इस बार उसके पास मैक्ग्रा जैसा अचूक गेंदबाज, एंड्र्यू साइमंड्स जैसा मैच पलट देने वाला हरफनमौला ऑलराउंडर नहीं है. टीम को विस्फोटक सलामी बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट और छक्के छुड़ा देने वाले मैथ्यू हेडेन की कमी भी खलेगी.

बल्लेबाजी में टीम की मजबूती शेन वाटसन, कैमरन व्हाइट, रिकी पोंटिंग और हसी ही हैं. जबकि गेंदबाजी में डग बोलिंगर और ब्रेट टीम की ताकत हैं. दोनों ka भारत में खेलने का अनुभव है और दोनों ही भारतीय उपमहाद्वीप में कामयाब भी रहे हैं. डेविड हसी भी आईपीएल खेलकर भारतीय पिचों को समझ चुके हैं.

वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया का अभियान 21 फरवरी से शुरू होगा. टीम को अहमदाबाद की तेज मानी जाने वाली पिच पर जिम्बाब्वे का सामना करना है. इस मैच पर अन्य टीमों की भी नजर रहेगी क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के पहले मैच से दूसरी टीमों को कंगारुओं की ताकत और कमजोरी का अहसास होगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एन रंजन

DW.COM

WWW-Links