1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ऑस्ट्रेलियन ओपन: बाल बाल बचे फेडरर

रोजर फेडरर को ऑस्ट्रेलियाई ओपन में बने रहने के लिए अपने पूरे अनुभव और काबिलियत का इस्तेमाल करना पड़ा क्योंकि फ्रांस के गिलेस सिमोन ने उनके पसीने छुड़ा दिए. आखिरकार फेडरर तीसरे दौर में पहुंच ही गए.

default

पिछली बार के चैंपयिन रोजर फेडरर 2003 के बाद पहली बार टूर्नामेंट से इतनी जल्दी बाहर हो जाने की हालत में पहुंचे. सिमोन ने उन्हें कांटे की टक्कर दी. पांच सेटों तक खिंचे मैच में फेडरर को 6-2, 6-3, 4-6, 4-6, 6-3 से जीत मिली.

पहले दो सेट तो फेडरर ने एक चैंपियन की तरह जीते. 68 मिनट में उन्होंने सिमोन को दो बार धूल चटाई. लेकिन सिमोन को जाना ही जाता है धीमी शुरुआत करने के लिए. यहां भी तीसरे सेट में वापसी करके सिमोन ने सबको चौंका दिया. और फिर चौथा सेट भी जब फेडरर के हाथ से निकल गया तो लोगों को समझ में आया कि सिमोन इस वक्त खेल रहे दुनिया के उन सिर्फ तीन खिलाड़ियों में क्यों शामिल हैं जिन्होंने फेडरर को हराया है.

Tennis Wimbledon Serena Williams 4. Juli 2009

वीनस विलियम्स

फेडरर को घुटने की परेशानी से जूझना पड़ रहा है. इस बात का सिमोन ने पूरा फायदा उठाया. उन्होंने कोर्ट के इस कोने से उस कोने तक जमकर दौड़ लगाई और फेडरर के हर बेहतरीन शॉट का बढ़िया जवाब दिया.

लगातार दो सेट हारने के बाद फेडरर के चेहरे पर परेशानी और शर्मिंदगी नजर आने लगी थी. आखिरकार पांचवें सेट में उनकी ऊर्जा लौटी और उन्होंने सवा तीन घंटे चले इस मैच में जीत हासिल की. मैच के बाद सिमोन ने माना कि पांचवें सेट में वह थक गए थे. लेकिन उन्होंने कहा कि अगर वह टूर्नामेंट में फेडरर से कुछ आगे जाकर भिड़ते तो अच्छा होता.

Novak Djokovic beim Wimbledon Viertelfinale 2009

नोवाक जोकोविच

टूर्नामेंट के बाकी मैचों में ज्यादा उथल पुथल नहीं हुई. हालांकि 2008 के चैंपियन सर्बिया के जोकोविच को भी अगले दौर में जाने के लिए खासी मेहनत करनी पड़ी. उन्होंने अनजाने से खिलाड़ी इवान को चार सेटों में 7-5, 6-7, 6-0, 6-2 से हराया.

कुछ ऐसा ही अनुभव वीनस विलियम्स का भी रहा. पिछले साल यूएस ओपन के बाद से आराम कर रहीं विलियम्स साल के पहले ग्रैंड स्लैम में चुनौतियों से जूझतीं नजर आईं. वह सैंड्रा सालावोवा से पहला सेट हारने के बाद 6-7, 6-0, 6-4 से जीत पाईं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links