1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

ऑफिस में नो फेसबुक

जर्मनी में कई कंपनियों ने दफ्तर में फेसबुक को ब्लॉक कर दिया है. उन्हें डर है कि इस सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट का दुरुपयोग कर दूसरी कंपनियां उनकी गोपनीय जानकारी हासिल कर सकती हैं. साथ ही सुरक्षा को भी खतरा हो सकता है.

default

जर्मनी की बिजनेस पत्रिका विर्ट्शाफ्ट्सवोखे ने कहा कि जर्मन शेयर बाजार डैक्स की कई कंपनियों को लगता है कि अगर उनके कर्मचारी फेसबुक को दफ्तर में देखते हैं तो कंपनी को इससे खतरा हो सकता है. जर्मनी के दूसरे सबसे बड़े बैंक कॉमर्सबैंक के एक प्रतिनिधि ने कहा, "कई सोशल मीडिया साइटों को हमारे कर्मचारी इस्तेमाल नहीं कर सकते क्योंकि कंपनी की सुरक्षा को इससे खतरा हो सकता है." कार निर्माता फोल्क्सवागेन और पोर्शे सहित कई और कंपनियां फेसबुक और ट्विटर को अपने दफ्तर के कंप्यूटरों पर ब्लॉक कर रही हैं.

सुरक्षा को खतरा

पत्रिका ने रिपोर्ट में यह भी कहा है कि कर्मचारी फेसबुक में कंपनियों की गुप्त जानकारी का खुलासा कर सकते हैं और वेबसाइट में किसी दूसरे यूजर के प्रोफाइल से कंपनी के कंप्यूटर में वायरस भी फैल सकते हैं. कंप्यूटरों के लिए एंटी वायरस सॉफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी कैस्पर्स्की के क्रिस्टियन फुक्स का कहना है कि पहले ईमेल के जरिए वायरस को कंप्यूटरों में फैलाया जा सकता था. अब लोग सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट्स के जरिए वायरस फैला रहे हैं.

कामचोर कर्मचारी

हालांकि मैर्सीडीस बेंज बनाने वाली कंपनी डाइमलर का कहना है कि ऑफिस में फेसबुक इस्तेमाल करने वाले कर्मचारियों का काम में मन कम लगता है और कंपनी को इससे घाटा होता है. इसलिए कुछ कर्मचारी इस सुविधा का ऑफिस में उपयोग नहीं कर सकते. क्लियरस्विफ्ट नाम की एक सर्वेक्षण कंपनी ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि 30 प्रतिशत जर्मन कंपनी इस बात से डरती हैं कि ऑफिस में फेसबुक के इस्तेमाल से उनकी कंपनी को नुकसान होगा. लेकिन विर्टशाफ्ट्सवोखे पत्रिका के अनुसार फेसबुक देखते ही 56 प्रतिशत कंपनियों में खतरे की घंटियां बजने लगती हैं.

रिपोर्टः एएफपी/एमजी

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links