1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ऐशेज से कम नहीं टी 20 वर्ल्ड कपः कॉलिंगवुड

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान पॉल कॉलिंगवुड ट्वेन्टी 20 वर्ल्ड कप की जीत को ऐशेज जीतने से कम नहीं मानते. अपने परंपरागत प्रतिद्वंद्वी ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद कॉलिंगवुड ने कहा कि उनकी टीम इस जीत की हकदार थी.

default

कॉलिंगवुड का करिश्मा

क्रिकेट का जन्म इंग्लैंड में ही हुआ लेकिन इस टीम ने कभी भी कोई वर्ल्ड कप नहीं जीता था. वनडे के नौ और ट्वेन्टी 20 के तीन वर्ल्ड कप के बाद पहली बार इंग्लैंड ने किसी वर्ल्ड कप पर हाथ रखा है. सैकड़ों साल से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच क्रिकेट में कट्टर प्रतिद्वंद्विता चल रही है और दोनों देशों के टेस्ट मैच सीरीज को ऐशेज कहते हैं. ऐशेज क्रिकेट का सबसे प्रतिष्ठित और सम्मानित सीरीज मानी जाती है.

आम तौर पर ऐशेज पर ऑस्ट्रेलिया का कब्जा रहा है लेकिन हाल के दिनों में इंग्लैंड ने दो बार इस सीरीज को अपने नाम किया है. 2005 और 2009 में ऐशेज जीतने वाली टीम के सदस्य रह चुके कॉलिंगवुड ने ट्वेन्टी 20 वर्ल्ड कप को इस सम्मान के बराबर आंका है. कॉलिंगवुड का कहना है, "यह उससे कम नहीं है. यह तो होना ही था. यह हमारा पहला वर्ल्ड कप है और हमारे लड़के इसके वाकई हकदार थे."

Cricket England Australien

जीत गया इंग्लैंड

इंग्लैंड की क्रिकेट टीम हमेशा एक अच्छी प्रतियोगी टीम मानी जाती रही है लेकिन फाइनल तक पहुंचते पहुंचते टीम जवाब दे देती रही है और इससे पहले कभी भी वर्ल्ड कप नहीं जीत पाई है. जहां तक वनडे वर्ल्ड कप का सवाल है, इंग्लैंड की टीम ने शुरू के पांच वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल तक पहुंची थी. 1979, 1987 और 1992 वर्ल्ड कप के फाइनल तक पहुंचने वाली इंग्लैंड की टीम हमेशा खिताबी मुकाबले हारती आई है.

टी 20 वर्ल्ड कप में पहली बार इंग्लैंड फाइनल में पहुंचा और पहली बार में ही जीत दर्ज की. इंग्लैंड के कप्तान कॉलिंगवुड का कहना है, "हमारी टीम में कुछ बहुत ही अच्छे खिलाड़ी हैं. पिछले एक साल से हमारी मेहनत का नतीजा ग्राउंड पर दिखने लगा है."

वेस्ट इंडीज में खेले गए वर्ल्ड कप में इंग्लैंड सिर्फ एक मैच हारा, वह भी डकवर्थ लुइस नियम से. कप्तान का कहना है, "टीम में बहुत आत्मविश्वास है. आप देख सकते हैं कि पिच पर हमारे खिलाड़ी भरोसे के साथ उतरते हैं. हमारे खिलाड़ी सोच समझ कर खेल रहे हैं और गेंदबाज बहुत अच्छी रणनीति बना रहे हैं. कुल मिला कर टीम मजबूत हुई है."

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में चमत्कारिक जीत हासिल की थी. इसके बाद फाइनल में पहले बल्लेबाजी करते हुए उसके तीन बल्लेबाज बहुत जल्दी आउट हो गए लेकिन कॉलिंगवुड इससे बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं थे. उनका कहना है, "हम कोई चांस नहीं लेना चाहते थे. उन्होंने पाकिस्तान के साथ जो किया था, उसके बाद तो कतई नहीं. अपर आप सर्वश्रेष्ठ बनना चाहते हैं तो निश्चित तौर पर आपको सर्वश्रेष्ठ को हराना पड़ता है. यह एक महान प्रदर्शन था."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः आभ मोंढे

संबंधित सामग्री