1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

ए राजा के घरों पर सीबीआई के छापे

सीबीआई ने 22,000 करोड़ रुपये के 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले के मामले में नई दिल्ली और चेन्नई में पूर्व संचार मंत्री ए राजा के घरों पर छापे मारे. राजा के निजी सचिव रहे आरके चंदोलिया समेत चार अफसरों के परिसरों पर भी छापे पड़े.

default

घोटाले में फंसे राजा

सीबीआई ने बुधवार को सुबह सुबह नई दिल्ली और चेन्नई में 47 वर्षीय राजा के घरों की तलाशी शुरू कर दी. 2जी स्पेक्ट्रम के आवंटन में धांधली पर सीएजी की रिपोर्ट आने के बाद भारी दबाव के बीच राजा को 14 नवंबर को इस्तीफा देना पड़ा. बताया जाता है कि इन धांधलियों की वजह से सरकारी खजाने को 1.76 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि पूर्व संचार सचिव सिद्धार्थ बेहुरिया, चंदोलिया, संचार आयोग के सचिव के श्रीधर और संचार विभाग में उपमहानिदेशक एके श्रीवास्तव के घरों पर भी छापे मारे गए हैं.

राजा कहते रहे हैं कि वह इस मामले में किसी भी समय सीबीआई की पूछताछ को तैयार हैं. सीबीआई सूत्रों का कहना है कि पूर्व मंत्री से तलाशी की प्रक्रिया के दौरान ही पूछताछ की गई. सुप्रीम कोर्ट ने घोटाले के सिलसिले में राजा और संचार सचिव से पूछताछ करने में नाकामी के लिए 22 नवंबर को सीबीआई को फटकार लगाई.

जस्टिस जीएस सिंघवी और एके गांगुली की बेंच ने हैरानी जताते हुए कहा कि क्यों देश की सबसे प्रमुख जांच एजेंसी सीवीसी और सीएजी की रिपोर्ट आने के बाद भी इन दोनों लोगों से पूछताछ नहीं कर पाई है जबकि इन रिपोर्टों में दोनों पर गंभीर आरोप लगे हैं. अदालत ने कहा, "कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति घोटाले में मंत्री और सचिव के शामिल होने के बारे में पूछताछ करेगा और आप (सीबीआई) का कहना है कि आठ हजार दस्तावेजों को छानबीन की गई है. आप बस इधर उधर फिर रहे हों. कम से कम सीबीआई से पूछताछ की उम्मीद तो की ही जाती है. आप इस अदालत को क्या समझते हैं."

जनवरी 2008 तक संचार सचिव रहे बेहुरिया के घर पर भी छापा मारा गया और लाइसेंस देने के बारे में उनसे पूछताछ भी की गई. बेहुरिया ने सीबीआई को बताया कि लाइसेंस 10 जनवरी 2008 को दिए गए और इस बारे में फैसला पहले ही ले लिया गया था. उन्होंने मंगलवार को संसद की लोक लेखा समिति के सामने भी यही बयान किया.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links