1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

ए पर्सनल वॉर: 26/11 मुंबई हादसे पर नाटक

मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए हमलों में फंसे सात आम लोगों की जिंदगी पर आधारित एक नाटक इंटरनेशनल फ्रिंज फेस्टविल में दिखाया जाना है. ए पर्सनल वॉर नामक यह नाटक लोगों की गोलियों की बौछार के बीच उनके संघर्ष पर आधारित है.

default

नाटक की लेखिका और निर्देशक दिव्या पलाट का कहना है कि ए पर्सनल वॉर सात आम लोगों की सच्ची जिंदगी पर आधारित है. मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए दुखद हमले में उनकी कड़वी यादों को आधार पर बनाकर इसे लिखा गया है. यह नाटक बताता है कि कैसे बमों की गूंज और गोलियों की बौछार के बीच ये लोग अपनी जान बचाने में कामयाब रहे.

"जिस वक्त आतंकवादी हमलों ने पूरे शहर को अपनी चपेट में लिया तब ये 7 व्यक्ति शहर के अलग अलह हिस्सा में थे. हमलों के दौरान उनके साथ क्या हुआ, ये कहानी व्यक्ति की जिजीविषा, उसके साहस और ताकत से जुड़ी है." इस नाटक से हुई कमाई को मुंबई पुलिस कमिश्नर कार्यालय को भेजा जाएगा. इसके जरिए पुलिसकर्मियों की सुरक्षा से जुड़ी जरूरतें पूरी करने का प्रयास होगा.

Terror in Mumbai

इंटरनेशनल फ्रिंज फेस्टिवल न्यू यॉर्क शहर में होता है जहां कला के कई आयामों का महोत्सव मनाया जाता है. दुनिया भर से 16 दिनों के लिए 200 से ज्यादा कंपनियां आकर इस फेस्टिवल में हिस्सा लेंगी. फ्रिंज फेस्टिवल 13 अगस्त से शुरू होने जा रहा है. निर्देशक दिव्या पलाट का कहना है कि फ्रिंज फेस्टिवल में भारत से कोई नाटक चुना जाना बेहद खुशी की बात है. यह कोई आम बात नहीं है. 10 हजार नाटकों में से 10 अंतरराष्ट्रीय नाटकों को चुना गया है.

दिव्या पलाट कई कुछ ना कहो, मस्ती, कृष्णा कॉटेज जैसी बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुकी हैं. इस नाटक के जरिए वह मुंबई के दुखद हादसे की कुछ ऐसी बातों को उकेरना चाहती हैं जिससे लोगों को मजबूती मिलती हो और आशा का संचार होता हो. पिछले साल इस नाटक को एडीनबरा फ्रिंज फेस्टिवल में दिखाया गया और टॉप 3 शो में रहा. इस नाटक को एमनेस्टी इंटरनेशनल अवॉर्ड के लिए भी नामांकित किया जा चुका है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: आभा एम

DW.COM

संबंधित सामग्री