1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

एशेज सीरीज में कंगारुओं की वापसी

एशेज सीरीज के तीसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की कमर तोड़ी. मिचेल जॉनसन ने घातक गेंदबाजी करते हुए छह विकेट चटकाए. इंग्लैंड 187 रन पर ऑल आउट हुआ. सिर्फ डेढ़ दिन के खेल में 20 विकेट गिरे, कंगारू ड्राइविंग सीट पर.

default

पर्थ की तेज पिच पर कंगारू गेंदबाज मिचेल जॉनसन ने इंग्लैंड की कमर तोड़ दी और आलोचकों को भी करारा जवाब दिया. जॉनसन ने सिर्फ 18 ओवर फेंके और एलिस्टर कुक, केविन पीटरसन, पॉल कोलिनवुड और जोनाथन ट्रॉट जैसे अहम विकेट जमीन पर बिखेर दिए.

पहले दिन इंग्लैंड ने बिना विकेट खोए 29 रन बटोर लिए थे. लेकिन शुक्रवार का दिन मेहमान टीम के लिए तूफान लेकर आया. 25वें ओवर में एलिस्टर कुक का विकेट गिरा. फिर जॉनसन के अगले ही ओवर में केपी और ट्रॉट भी बढ़ लिए. पिच पर कुछ देर तक कप्तान एंड्र्यू स्ट्रॉस और इयान बेल ही टिक सके. स्ट्रॉस ने 52 तो बेल ने 53 रन बनाए.

इन दोनों के अलावा इंग्लैंड का कोई बल्लेबाज ऑस्ट्रेलियाई पेस बैटरी का सामना नहीं कर सका. हिलफेनहाउज, जॉनसन, रायन सिडल और पीटर सिडल के स्विंग होती गेंदों ने अपनी टीम को खासी राहत दी. पिच तेज गेंदबाजों की इतनी मदद कर रही थी कि पोटिंग ने स्पिनर को गेंद थमाई ही नहीं.

नतीजा रहा कि 63वें ओवर में इंग्लैंड की पूरी टीम मात्र 187 रन बना सकी. इससे पहले इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया और पहले दिन मेजबान टीम को 268 पर समेट दिया. इसके बाद इंग्लैंड की स्थिति बेहद मजबूत लग रही थी लेकिन शुक्रवार के खेल ने मैच को रोमांचक बना दिया. डेढ़ दिन के खेल में 20 विकेट गिर चुके हैं.

अब ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने भी इंग्लैंड को जोरदार जवाब दिया है. शेन वाटसन के नाबाद 61 रन की बदौलत ऑस्ट्रेलिया का स्कोर तीन विकेट पर 119 रन है. इसमें 81 रन की लीड जोड़ दी जाए तो कंगारू टीम की बढ़त अब 200 रन की हो गई है. तीन दिन का खेल बाकी है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा एम

DW.COM