1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

एशेज टेस्ट: हसी ने संभाली ऑस्ट्रेलियाई पारी

ब्रिस्बेन टेस्ट के दूसरे दिन माइकल हसी ने नाबाद 81 रन बनाकर ऑस्ट्रेलिया की ढहती पारी को संभाला है. एक विकेट पर 78 रन के स्कोर से 143 रन पर पांच विकेट खोकर जूझ रहा ऑस्ट्रेलिया अब इंग्लैंड से 40 रन पीछे हैं.

default

संकटमोचक हसी

बाएं हाथ के अनुभवी बल्लेबाज माइक हसी के टीम में स्थान को लेकर सवाल उठते रहे हैं लेकिन अहम मौकों पर खेली गई उनकी पारी आशंका के बादलों को दूर धकेलती रहती है. ब्रिस्बेन टेस्ट का दूसरा दिन भी कुछ ऐसा ही मौका लेकर आया. बारिश के चलते जिस समय खेल रोका गया, उस समय ऑस्ट्रेलिया ने पांच विकेट खोकर 220 रन बना लिए थे. माइकल हसी 81 रन और विकेटकीपर ब्रैड हैडिन 22 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं. हसी ने 144 गेंदों में खेली अपनी पारी में अब तक 13 चौके और 1 छक्का लगाया है.
हसी ने इंग्लैंड के आक्रमण की धार को कुंद करते हुए ऑस्ट्रेलियाई पारी को संभाला. ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी रही और पहले विकेट के लिए 78 रन की साझेदारी हुई लेकिन फिर धड़ाधड़ विकेट गिरने लगे जिसके चलते ऑस्ट्रेलिया का स्कोर एक समय 143 रन पर पांच विकेट हो गया. रिकी पोंटिंग एक बार फिर नाकाम रहे और सिर्फ 10 रन ही बना पाए.

शेन वॉटसन और साइमन कैटिच ने पहले विकेट के लिए अच्छी साझेदारी करते हुए 78 रन जोड़े. वॉटसन ने 36 रन और कैटिच ने 50 रन का योगदान दिया. इंग्लैंड की गेंदबाजी में हीरो स्टीव फिन और जेम्स एंडरसन रहे जिन्होंने लंच के बाद इंग्लैंड को मैच में वापस ला दिया. लंच के बाद फेंकी गई दूसरी गेंद पर ही एंडरसन ने रिकी पोटिंग को आउट कर दिया.

फिन ने बेहतरीन रिटर्न कैच पकड़ते हुए साइमन कैटिच को विदा किया. कैटिच ने आउट होने से पहले 50 रन बनाए और 55 टेस्ट मैचों में यह उनकी 25वीं हाफ सेंचुरी है. माइकल क्लार्क रन बनाने के लिए जूझते नजर आए और सिर्फ 9 रन की पारी के लिए उन्होंने 50 गेंदों का सहारा लिया और फिर वह फिन का ही शिकार बने. मार्कस नॉर्थ की पारी भी आठ गेंद तक ही ठहर पाई और ऑफ स्पिनर ग्रैम स्वॉन ने उन्हें स्लिप में कैच कराकर पैवेलियन का रास्ता दिखा दिया.

दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर फिन 61 रन पर दो विकेट और एंडरसन 40 रन पर दो विकेट ले चुके हैं. इंग्लैंड ने पहली पारी में 260 रन बनाए हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links