1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

एशेज के बाद क्यों नहीं जीत सकते वर्ल्ड कपः स्ट्रॉस

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान एन्ड्र्यू स्ट्रॉस ने कहा है कि क्रिकेट वर्ल्ड कप में टीम के खराब प्रदर्शन का ठीकरा एशेज सीरीज पर फोड़ने का कोई मतलब नहीं है. इंग्लैंड टीम क्रिकेट वर्ल्ड कप वनडे ट्रॉफी कभी नहीं जीती है.

default

स्ट्रॉस का मानना है कि एशेज सीरीज और वर्ल्ड कप का कोई लेना देना नहीं है और टीम के बुरे प्रदर्शन के लिए ये कोई कारण भी नहीं है. इंग्लैंड क्रिकेट वर्ल्ड कप नहीं जीता है. खेल के जानकारों का मानना है कि इस बार भी वे क्रिकेट वर्ल्ड कप नहीं जीत पाएंगे क्योंकि इसके ठीक पहले ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाली अहम एशेज सीरीज है यहां भी वे 1986-87 के बाद से टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाए हैं.

लेकिन ऑस्ट्रेलिया न केवल एशेज सीरीज़ जीती है बल्कि इनके बाद होने वाला क्रिकेट वर्ल्ड कप का खिताब भी वह पिछले तीन बार से जीत रही है.

गुरुवार को बांग्लादेश और इंग्लैंड के बीच वनडे मैच है. इसके पहले इंग्लैंड के कप्तान एन्ड्र्यू स्ट्रॉस ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि मैच शिड्यूल के नाम पर रोने का कोई मतलब नहीं है. ये ऐसा ही है. लेकिन इसने ऑस्ट्रेलिया को पिछला वर्ल्ड कप जीतने से नहीं रोका. इसके लिए कोई कारण नहीं है कि आप एशेज सीरीज के बाद वर्ल्ड कप क्यों नहीं जीत सकते. आपको चाहिए कि आप एशेज में जीतें और फिर इस आत्मविश्वास के साथ वर्ल्ड कप खेलने जाएं, ये वर्ल्ड कप में खेलने का आदर्श तरीका है.

इंग्लैंड तीन वर्ल्ड कप हारा है. लॉर्ड्स में 1979 में वेस्ट इंडीज ने उसे हराया तो 1992 में मेलबर्न में उसे पाकिस्तान ने मात दी.

क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने के सबसे नज़दीक वे तब थे जब इंग्लैंड की टीम की कप्तानी माइक गाटिंग के हाथ में थी. 1987 में कोलकाता में ऑस्ट्रेलिया ने उन्हें सात रन से हराया था.

रिपोर्टः एएफपी/आभा मोंढे

संबंधित सामग्री