1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

एशिया का सबसे बड़ा एयर शो शुरू

बुधवार को एशिया के सबसे बड़े एयर शो की शुरुआत बैंगलोर में हुई. छह दिन तक चलने वाले इस एयर शो में भारत दुनिया भर के देशों के आगे अपना शक्तिप्रदर्शन करेगा तो पश्चिमी हथियार कंपनियों की निगाहें भारत के बाजार पर हैं.

दो साल में एक बार होने वाला यह शो 'एरो इंडिया' दुनिया की सबसे अहम सैन्य प्रदर्शनियों में गिना जाता है. येलाहांका एयर फोर्स स्टेशन पर यह शो 6 से 11 फरवरी तक चलेगा. भारतीय वायुसेना ने डीआरडीओ के साथ मिल कर इसे आयोजित किया है. 9वीं बार हो रहे इस शो का उद्घाटन रक्षा मंत्री एके एंटनी ने किया. 1996 से आयोजित किए जा रहे इस शो में हिस्सा ले रहे देशों की संख्या हर बार बढ़ती चली जा रही है. इस साल एयर वाइस मार्शल झेंग युआनलिन के नेतृत्व में एक चीनी प्रतिनिधिमंडल भी भाग ले रहा है.

Indien Luftfahrtmesse Aero India in Bangalore

2011 में हुए शो में 29 देशों से 600 से ज्यादा कंपनियों ने शिरकत की थी. उस वक्त यह प्रदर्शनी 75 हजार वर्ग मीटर के इलाके में हुई. इस साल यह 1,25,000 वर्ग मीटर में फैली हुई है और 27 देशों से 700 कंपनियों ने इसमें हिस्सा लिया है. इसमें बेल्जियम, बल्गारिया, इटली, इस्राएल, रूस, जर्मनी, फ्रांस, अमेरिका, ब्रिटेन और यूक्रेन के पवेलियन भी लगे हैं. इन देशों के अलावा ऑस्ट्रिया, स्पेन, स्वीडन, ब्राजील, रोमानिया, कनाडा, दक्षिण अफ्रीका, नीदरलैंड्स, जापान, स्विट्जरलैंड और ऑस्ट्रेलिया के प्रतिनिधि मंडल भी शामिल हैं.

शो के दौरान हवाई कलाबाजी भी दिखाई जा रही है. भारतीय वायुसेना की सारंग टीम ध्रुव हेलीकॉप्टरों के साथ हवाई करतब दिखाएगी तो रूस के रशियन नाइट्स भी अपना कमाल दिखाएंगे. साथ ही चेक गणराज्य की वायुसेना की एरोबेटिक्स टीम फ्लाईंग बुल्स भी अपनी कला का प्रदर्शन करेगी. इसे रेड बुल्स के नाम से भी जाना जाता है. शो के प्रेस रिलीज में कहा गया है कि इस साल भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कंपनियों ने पहले से ज्यादा रूचि दिखाई है और कुल मिला कर छोटी और बड़ी दोनों ही कंपनियां बड़ी संख्या में भाग ले रही हैं.

Indien Luftfahrtmesse Aero India in Bangalore Eurofighter

स्टॉकहोल्म के पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट के अनुसार 2006 से 2010 के बीच हुई हथियारों की बिक्री का 9 फीसदी भारत को गया. नई दिल्ली ने 2012-13 के वित्तीय वर्ष में 1930 अरब रुपए रक्षा बजट के लिए रखा है. फ्रांस को दासो एविएशन शो के स्टार प्रदर्शकों में है. वह रफाएल लड़ाकू विमान का प्रदर्शन कर रहा है. दूसरे प्रतिद्वंद्वियों को पछाड़ कर उसने भारत को 12 अरब डॉलर के मूल्य के 126 लड़ाकू विमान बेचने का ठेका पाया है.

शो के दौरान बैंगलोर में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. स्थानीय पुलिस के साथ साथ सीआईएसएफ सुरक्षा बल और गरुड़ कमांडो भी तैनात किए गए हैं. चारों तरफ सीसीटीवी की मदद से चौकसी रखी जा रही है और काउंटर टेरोरिज्म और बॉम्ब स्क्वैड को भी चौकस किया गया है.

आईबी/एमजे (पीटीआई, एएफपी)

DW.COM