1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

एशियाड में भिड़ेगी चीनी क्रिकेट टीम

अगले महीने चीन के गुआंगज़ू में एशियन गेम्स शुरू होने वाले हैं. पहली बार चीन अपने खिलाड़ियों को क्रिकेट के मैदान पर भी उतारने वाला है. लेकिन क्रिकेट विश्लेषकों का कहना है कि टीम को हल्के में नहीं लेना चाहिए.

default

जावेद मियांदाद

चीन में क्रिकेट को प्रोत्साहन दे रहे पाकिस्तानी खिलाड़ी जावेद मियांदाद कहते हैं कि चीन की टीम टूर्नामेंट में आश्चर्यचकित भी कर सकती है. वह कहते हैं, "हो सकता है कि क्रिकेट चीन में बहुत लोकप्रिय न हो, लेकिन यह बात सबको पता है कि जब वे कुछ करने की ठान लेते हैं तो कुछ भी कर सकते हैं."

मियांदाद के मुताबिक क्रिकेट में भी बात वही है. चीनी लोग सीखने में तेज़ होते हैं. मिसाल के तौर पर, उनके एक खिलाड़ी को तीन महीने पहले तक क्रिकेट के बारे में कुछ भी नहीं पता था. लेकिन अब उसके लेग ब्रेक किसी भी पेशेवर खिलाड़ी जितने अच्छे हैं.

मियांदाद इस बात से हालांकि दुखी हैं कि चीन में कुछ कर दिखाने की जो भावना है, वैसी भावना भारत और पाकिस्तान में देखने को कम मिलती है. उनके मुताबिक किसी भी चीज़ को सीखने में उनकी श्रद्धा बहुत ही शानदार है.

मियांदाद अगले महीने अपने खिलाड़ियों को सहयोग देने गुआंगज़ू पहुंच रहे हैं. उनके साथ पाकिस्तान के ही पूर्व खिलाड़ी राशिद खान और बांग्लादेश के अमीनुल इस्लाम भी चीन के खिलाड़ियों को कोचिंग दे रहे हैं. महिलाओं की टीम की कोचिंग भारतीय खिलाड़ी ममता माबेन कर रही हैं.

भारत की टीम इस बार एशियाड में हिस्सा नहीं ले रही है. श्रीलंका और पाकिस्तान की टीमों से भी ज्यादा उम्मीद नहीं की जा रही है क्योंकि उनके सबसे अच्छे खिलाड़ी शामिल नहीं हो पाएंगे. इस स्थिति में चीन की टीम को अपना हुनर दिखाने का अच्छा मौका मिलेगा.

1998 तक कॉमनवेल्थ खेलों में क्रिकेट भी शामिल किया जाता था. लेकिन इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और भारत में खेलों के दौरान क्रिकेट को हटा दिया गया. इस बीच एशियाड में इस खेल को गंभीरता से लिया जा रहा है. 2014 में दक्षिण कोरिया में भी क्रिकेट खेलों का हिस्सा रहेगा.

रिपोर्टः एएफपी/एमजी

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links