1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

एशियाड में भारत करेगा अभियान की शुरुआत

एशियन गेम्स के बैडमिंटन टीम इवेंट में भारत की कड़ी टक्कर चीनी ताइपे से होनी है. चेतन आनंद के न होने से मुश्किल में पड़ सकता है भारत. महिला वर्ग में भारत खेलेगा इंडोनेशिया से. साइना नेहवाल पर टिकी नजरें.

default

चेतन आनंद एशियाड में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं और उनकी अनुपस्थिति में टीम की जिम्मेदारी पी कश्यप के कंधों पर आ गई है. दूसरे सिंगल मैच में उनका मुकाबला हसुहे हसुआन से होना है जो एशियाई और वर्ल्ड चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल तक पहुंच चुके हैं. पहले सिंगल मैच में अरविंद भट्ट यू हसिंग से खेलेंगे.

डबल्स मुकाबले में सानावे थॉमस और अक्षय देवलकर के सामने सीएम फांग और एसएम ली की जोड़ी होगी जबकि वी डिजू और रुपेश कुमार का सामना हुंग लिंग और लिन लांग से होगा. महिला वर्ग में भारतीय बैडमिंटन टीम की उम्मीदें दुनिया की नंबर तीन खिलाड़ी साइना नेहवाल पर टिकी हैं जिन्होंने हाल ही में कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है. इंडोनेशिया की मजबूत टीम के खिलाफ साइना अपनी ओर से कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेंगी.

Flash-Galerie Indien Commonwealth Games Delhi 2010

साइना के अलावा ज्वाला गट्टा और अश्विनी पुनप्पा से भी उम्मीदे हैं क्योंकि कॉमनवेल्थ महिला डबल्स मुकाबले में भारत को वह स्वर्ण दिला चुकी हैं. लेकिन इस बार उनकी राह आसान नहीं होगी. पहले राउंड में जीत हासिल करने वाली टीम सीधे अंतिम 16 में जगह बनाएगी. करीब 25 साल बाद यह पहला मौका है जब भारत टीम इवेंट में अपनी चुनौती पेश कर रहा है.

दोहा एशियाई खेलों में तीसरे स्थान पर आने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम को अपना पहला मैच शनिवार को मलेशिया के खिलाफ खेलना है. हॉकी में भारत के सामने खतरा चीन और दक्षिण कोरिया से है. कोच संदीप सोमेश मानते हैं कि गोल्ड मेडल जीतने की आशाओं को बरकरार रखने के लिए भारत को इन दोनों में से एक टीम को हराना होगा. भारत को 2012 ओलंपिक गेम्स में भी प्रवेश मिल जाएगा.

बिलियर्ड्स में भी भारत अपने अभियान की शुरुआत करेगा. पंकज आडवाणी और गीत सेठी विश्व विजेता रह चुके हैं. उनके सामने मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में थाइलैंड के प्राप्रुट होंगे जिन्होंने लगातार तीन बार एशियन गेम्स में गोल्ड अपने नाम किया है. टेबल टेनिस में भारत की पुरुष टीम चीनी ताइपे से भिड़ेगी जबकि महिला टीम के सामने चुनौती लाओस से पार पाने की होगी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: एमजी

WWW-Links

संबंधित सामग्री