1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचा इंटरनेट

हो सकता है अगली बार जब कोई पर्वतारोही दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट पर पहुंचे, तो उसका वहां पहुंचना हम लाइव देख पाएं और उससे बात भी कर पाएं. क्योंकि अब एवरेस्ट पर इंटरनेट और वीडियो कॉल की सुविधा पहुंच चुकी है.

default

एवरेस्ट पर 20 बार चढ़े एपा शेरपा

ऐसा दावा नेपाल की एक टेलीकॉम कंपनी ने किया है. स्वीडन की फोन कंपनी टेलियासोनेरा की नेपाली सहयोगी एनसेल ने कहा है कि उसने गोराकशेप गांव में एक हाई स्पीड फोन बेस स्टेशन बनाया है. यह स्टेशन इंटरेनट की तीसरी पीढ़ी वाली यानी थ्रीजी सुविधाओं से लैस है. गोराकशेप गांव एवरेस्ट क्षेत्र में 5200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है. एवरेस्ट की ऊंचाई 8848 मीटर है.

BdT Nepal Kabinett in den Bergen

एनसेल के नेपाल प्रमुख पासी कोएस्टिनेन ने काठमांडू में बताया, "आज हमने दुनिया की सबसे ऊंची जगह से वीडियो कॉल की. हमने माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप से यह कॉल की लेकिन हमारी कवरेज एवरेस्ट के ऊपर तक पहुंचेगी."

अब तक एवरेस्ट पर पहुंचने वाले लोग सैटलाइट फोन पर ही निर्भर हैं. यह बहुत महंगा है और इसका नेटवर्क भी अच्छा नहीं है. इसके अलावा चाइना मोबाइल नाम की चीनी कंपनी ने 2007 में यहां अपनी सेवाएं शुरू की थीं लेकिन वे चोटी के उस तरफ ही काम करती हैं जिसका मुंह चीन की ओर है.

नई सेवा पर्वतारोहियों के अलावा उन हजारों सैलानियों और ट्रेकर्स के भी काम आएगी जो हर साल एवरेस्ट क्षेत्र में घूमने जाते हैं. एनसेल के 80 फीसदी हिस्से की मालिक टेलियासोनेरा के प्रमुख एग्जेक्यूटिव लार्स नेबर्ग कहते हैं, "मोबाइल संचार के इतिहास में यह मील का एक पत्थर है. थ्रीजी हाई स्पीड इंटरनेट के जरिए दुनिया की सबसे ऊंची जगह पर सस्ता और बेहतर संचार उपलब्ध होगा."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links