1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

एयर इंडिया की हड़ताल खत्म

दिल्ली हाई कोर्ट के स्टे के बाद एयर इंडिया के 30 हजार कर्मचारियों ने दो दिन से चली आ रही अपनी हड़ताल को खत्म कर दिया है. अदालत ने 13 जुलाई तक हड़ताल पर रोक लगा दी है.

default

बेहाल मुसाफिरों को मिलेगी राहत

हड़ताल के कारण पिछले दो दिनों में 140 उड़ानों को या तो रद्द करना पडा है या फिर उनके रास्ते बदले गए हैं. इस बीच एयर इंडिया के 18 कर्मचारियों को बर्खास्त किए जाने की भी खबरें हैं.

इससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने न सिर्फ हड़ताल पर रोक लगाई बल्कि 31 मई से शुरू होने वाले प्रस्तावित विरोध आंदोलन को भी 31 जुलाई तक टाल देने का आदेश दिया. एयर इंडिया ने हड़ताल के विरोध में मुंबई हाई कोर्ट में भी याचिका दायर की जिस पर सुनवाई करते हुए अदालत ने एयर इंडिया से कर्मचारी यूनियनों को कानूनी नोटिस भेजने को कहा है. मुंबई हाई कोर्ट इस मामले पर अब शुक्रवार को सुनवाई करेगा.

इससे पहले नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने एयर इंडिया को खुली छूट देते हुए कहा कि जैसे भी हो हड़ताल को खत्म कराया जाए. उन्होंने कहा, "हड़ताल गैर कानूनी है. कुछ कर्मचारी गैर जिम्मेदाराना तरीके से पेश आ रहे हैं. इससे एयर इंडिया की आमदनी और प्रतिष्ठा पर असर पड़ेगा. यूनियन और कर्मचारियों को बातचीत के लिए आगे आना चाहिए."

इससे पहले एयर इंडिया मैनेजमेंट और हड़ताली कर्मचारी यूनियनों के बीच पहले दौर की बातचीत नाकाम रही है. एयर इंडिया के इंजीनियरों समेत हजारों कर्मचारी प्रबंधन के उस आदेश के खिलाफ हड़ताल पर थे जिसके तहत वे अपनी मांगों को सार्वजनिक नहीं कर सकते.

हड़ताल के कारण मुसाफिरों को काफी मुश्किलों का सामना करना पडा. बुधवार को एयर इंडिया की 79 घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द करनी पड़ीं. इससे पहले मंगलवार को 50 फ्लाइट्स उड़ान नहीं भर पाईं जबकि कइयों में घंटों की देरी हुई. एयर इंडिया ने घोषणा की है कि जो उड़ानें रद्द हो गई हैं, उनके यात्रियों को पूरे पैसे लौटाए जाएंगे जबकि ट्रांज़िट मुसाफिरों को होटल और स्थानीय यातायात की सुविधा दी जाएगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः राम यादव