1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

एमएच17 के करीब पहुंचे जांचकर्ता

अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ आखिरकार पूर्वी यूक्रेन में एमएच17 के मलबे तक पहुंचने की एक बार फिर कोशिश कर रहे हैं. यूक्रेन में लड़ाई की वजह से एमएच17 के कुछ यात्रियों के शव अब भी दुर्घटनास्थल पर पड़े हैं.

पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादियों और यूक्रेनी सेना के बीच लड़ाई को एक दिन के लिए रोक दिया गया है. इस बीच ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड्स के विशेषज्ञ एक हफ्ते के अंतराल के बाद एमएच17 के क्रैश तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं. जांच दल के प्रमुख नीदरलैंड्स के पुलिस अधिकारी पीटर याप आल्बर्सबर्ग ने बताया, "सुरक्षा स्थिति बहुत अस्थिर है. हमें पता नहीं कि हम दुर्घटनास्थल तक पहुंचेंगे या नहीं लेकिन हमें कल से ज्यादा उम्मीद है."

एमएच17 करीब दो हफ्ते पहले अम्स्टरडम से क्वालालंपुर जा रहा था जब पूर्वी यूक्रेन के ऊपर विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया. हादसे में 298 लोगों की मौत हो गई और इसमें ज्यादातर यात्री नीदरलैंड्स के थे. दुर्घटना के बाद नीदरलैंड्स की सरकार ने विशेषज्ञों की एक टीम को यूक्रेन भेजने का फैसला किया.

इनमें पुलिस अफसर भी शामिल थे और यह कई यात्रियों के शव वापस नीदरलैंड्स लाने में सफल रहे. लेकिन पिछले एक हफ्ते से यूक्रेन में भारी संघर्ष की वजह से विमान तक पहुंचना नामुमकिन हो गया था.

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने एक दिन पहले अपील की थी कि एमएच17 के दुर्घटनास्थल के आसपास लड़ाई रोक दी जाए ताकि जांचकर्ता इलाके तक पहुंच सकें. इसके बाद यूक्रेन की सेना ने एक दिन शांति का एलान किया. यूक्रेन की सरकार का कहना है कि रूस का समर्थन कर रहे अलगाववादी क्रैश की जगह पर नियंत्रण रख हुए हैं और लड़ाई में 10 यूक्रेनी सैनिकों की मौत हो गई है. यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको ने इस बीच गारंटी दी है कि विशेषज्ञ दुर्घटनास्थल पर शुक्रवार से काम कर सकेंगे.

एमजी/एएम (एएफपी, एपी)

संबंधित सामग्री