1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

एमएच 370: उम्मीद अभी बाकी है

मलेशियन एयरलाइंस के अभागे विमान एमएच 370 को लापता हुए 100 दिन हो गए. लेकिन न तो विमान का एक तिनका मिला और ना ही पता चल पाया है कि उसमें सवार 239 लोग कहां गए.

एमएच 370 फ्लाइट में सवार 239 यात्रियों के परिवारों ने अब भी उम्मीद नहीं छोड़ी है. जबकि अन्य अपने प्यारे सदस्यों के बिना भविष्य बिताने के बारे में ध्यान दे रहे हैं. 52 वर्षीय जैक्विता गोंजालेस के लिए अहम पारिवारिक आयोजनों में अपने पति की कमी खलना असमान्य नहीं था. गोंजालेस के पति काम के लिए काफी यात्रा करते थे. उनके पति मलेशियन एयरलाइंस में सीनियर फ्लाइट एटेंडेंट थे. एक जून को दोनों की शादी की 29वीं सालगिरह थी. लेकिन किसी अपने का दुनिया से चले जाने का गम क्या होता है यह गोंजालेस को इसी दिन अहसास हुआ.

पैट्रिक गोमेज आठ मार्च को इसी मनहूस फ्लाइट में काम कर रहे थे. फ्लाइट बीजिंग के लिए मलेशिया से रवाना हुई थी. 238 अन्य यात्रियों के साथ पैट्रिक भी दुनिया के सबसे दुखद विमान रहस्यों के पीड़ित हैं.

अचानक गायब हुआ विमान

आठ मार्च को मलेशिया की राजधानी क्वालालंपुर से चीनी राजधानी बीजिंग की उड़ान भरते हुए बोइंग 777 विमान का अचानक एयर ट्रैफिक कंट्रोल से संपर्क कट गया और उसके बाद से इसकी कोई खबर नहीं. उड्डयन इतिहास में ऐसे इक्का दुक्का मामले ही हैं, जब कोई विमान इस तरह लापता हो गया हो. गोंजालेस कहती हैं, "हमने उम्मीद नहीं छोड़ी है. हमें पूरा भरोसा है कि वह एक दिन आएंगे."

Bildergalerie MH 370 Suche

अगस्त में दोबारा शुरु होगा खोज अभियान

चार बच्चों की मां गोंजालेस जहां अपनी बेटी को डे केयर भेजती हैं वहीं काम करके खुद को व्यस्त रखने की कोशिश करती हैं. गोंजालेस कहती हैं, "कभी अपने मोबाइल फोन को देखती हूं और सोचती हूं कि उनका एसएमएस आएगा."

विमान के गायब होने के बाद से ही दक्षिणी हिन्द महासागर में उसे ढूंढने के लिए सैकड़ों जहाज अंतरराष्ट्रीय खोज अभियान में शामिल हो चुके हैं. विशेष सोनार तकनीक से बोइंग 777 के फ्लाइट रिकॉर्डर सिग्नल सुनने की कोशिश की गई है. पनडुब्बियां भी समंदर के नीचे दसियों हजारों किलोमीटर छान चुकी हैं.

तलाश अभी बाकी है

अपेक्षित है कि समंदर के नीचे सर्च ऑपरेशन के अगले चरण का एलान होगा जो कि अगस्त से शुरू किया जाएगा. मलेशिया के नागरिक उड्डयन विभाग के मुताबिक, "तलाशी अभियान अगस्त में शुरू होगा और साल भर तक चलेगा." विमान संकट के शुरू से ही इस विभाग की तीखी आलोचना हो रही है. एक और यात्री चेंग मेई लिंग के 30 वर्षीय भाई लाई चेन मेई के मुताबिक रिश्तेदारों के लिए जिंदगी में आगे बढ़ना तब तक बहुत मुश्किल है जब तक उन्हें यह पता नहीं चल जाता कि उनके साथ क्या हुआ. विमान से जुड़ी झूठी और मलबे के बारे में गलत सुरागों ने रिश्तेदारों की निराशा और बढ़ाई है. शुरू में कहा गया कि विमान का पायलट और को पायलट जहाज के लापता होने में भूमिका निभा रहे हैं. लेकिन जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई.

अधिकारियों द्वारा बिना किसी नतीजे के खोज को लेकर लापता यात्रियों के रिश्तेदारों में बहुत गुस्सा है, खास कर चीनी यात्रियों के रिश्तेदारों में. लापता विमान में ज्यादातर चीनी यात्री थे. कई रिश्तेदारों ने अब मामला अपने हाथ में ले लिया है. उन्होंने धन इकट्ठा करने के लिए एक अभियान की शुरुआत की है. इस अभियान के तहत 50 लाख डॉलर इकट्ठा करने की योजना है. लापता विमान का सुराग देने वालों को इनाम के तौर पर यह रकम दी जाएगी. रिश्तेदारों के ही दबाव के बाद सरकार ने सैटेलाइट डाटा जारी किए जिसमें एमएच 370 से जुड़े अंतिम इलेक्ट्रॉनिक सूचनाएं थीं.

एमएच 370 के स्टीवर्ड हाजरिन हसनैन की पत्नी इंतान मैजुरा को अपनी चार साल की बेटी को यह समझाना सबसे दुखद काम था, कि उसके पिता अब कभी नहीं लौटेंगे. 34 वर्षीय इंतान भी मलेशियन एयरलाइंस में एयर होस्टेस हैं. मई में इंतान को लड़का पैदा हुआ. जब इंतान से पूछा गया कि अगर उनके पति दोनों बच्चों को देखने अगर नहीं आते हैं तो. इंतान कहती हैं, "जो भी परिणाम होंगे मुझे वह मंजूर है. जीवित या मृत. अगर वे मृत हैं तो हमें इसके सबूत दिखाओ, अभी."

सभी परिवार अपने लापता रिश्तेदार को दोबारा देखने को लेकर निश्चित नहीं है. ऐसा कहा जाता है कि मई में कुछ रिश्तेदारों ने ऑस्ट्रेलिया में अंतिम संस्कार कराया है. माना जाता है कि यह अंतिम संस्कार लापता यात्रियों को लेकर पहला अंतिम संस्कार था.

एए/एजेए (एपी)

संबंधित सामग्री